मोबाइल से खुलेंगे गेट, दिल्ली मेट्रो की हेरिटेज लाइन की शुरुआत

59
SHARE

आज दिल्ली मेट्रो की आईटीओ-कश्मीरी गेट हेरिटेज लाइन का इनॉगरेशन हुआ। अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू हरी झंडी दिखाकर मेट्रो को रवाना किया। हेरिटेज लाइन की शुरुआत से तीन स्टेशनों – दिल्ली गेट, जामा मस्जिद और लाल किला- के साथ मेट्रो की पुरानी दिल्ली में एंट्री हो गई। इस लाइन के शुरू हो जाने के बाद कश्मीरी गेट स्टेशन दिल्ली मेट्रो का अब तक का सबसे बड़ा और ट्रिपल एक्सचेंज फैसिलिटी वाला स्टेशन बन गया। ये तीन कॉरिडोर (वॉयलेट लाइन के साथ रेड और येलो लाइन) को जोड़ेगा।

हेरिटेज लाइन वॉयलेट लाइन का एक्सटेंशन है जो कि फिलहाल फरीदाबाद और आईटीओ के बीच चलती है। इस लाइन के शुरू होने से येलो लाइन के चांदनी चौक और चावड़ी बाजार स्टेशनों से बोझ घटेगा। इन तीनों स्टेशन की शुरूआत हो जाने पर पुरानी दिल्ली इलाके के निवासियों की कनॉट प्लेस, जनपथ, केंद्रीय सचिवालय के दफ्तरों और फरीदाबाद में सीधी पहुंच हो जाएगी।

मेट्रो ने एक प्रयोग के तौर लाल किले में दो स्पेशल एंट्री गेट्स और जामा मस्जिद में दो एग्जिट गेट्स बनाए हैं। इन गेट्स के जरिए पैसेंजर्स अपने मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर एंट्री कर सकेंगे और बाहर निकल सकेंगे। इन गेट्स को ड्रीम गेट्स नाम दिया गया है। देश में यह अपनी तरह का पहला प्रयोग है। इस योजना के तहत मेट्रो में सफर करने के लिए न तो टोकन खरीदने की जरूरत पड़ेगी और ही स्मार्ट कार्ड को बार-बार रिचार्ज कराना होगा। अब आपका मोबाइल फोन मेट्रो की यात्रा में टिकट का काम करेगा।

योजना के तहत पे-टीएम, आईसीआईसीआई बैंक और जिप कैश की मोबाइल एप्लिकेशन में दिल्ली मेट्रो का लिंक मुहैया कराया जाएगा। इस लिंक पर क्लिक करते ही आपसे स्टेशन का ऑप्शन पूछा जाएगा। स्टेशन के नाम डालने के बाद एप्लिकेशन के जरिए आपको एक क्यूआर कोड जनरेट होगा। स्टेशन पहुंचने पर आपको यह क्यूआर कोड ड्रीम गेट के सामने रखना होगा। क्यूआर कोड को रीड करने के बाद ड्रीम गेट खुल जाएगा।

वहीं, जर्नी पूरी होने के बाद आपको क्यूआर कोड एक बार फिर ड्रीम गेट के सामने रखना होगा। इसके बाद एप्लिकेशन किराए की केलकुलेशन कर आपके अकाउंट से उतने रुपए काट लेगा और स्टेशन से बाहर जाने के लिए गेट खुल जाएगा। 5.17 किमी लंबी हैरिटेज लाइन के तहत आने वाले तीन मेट्रो स्टेशनों में पैसेंजर्स को न सिर्फ मुगलिया जीवन शैली को समझने का मौका मिलेगा बल्कि मौजूदा पुरानी दिल्ली की पूरी झलक भी देखने को मिल जाएगी।

लाल किला, जामा मस्जिद और दिल्ली गेट स्टेशनों को वहां मौजूद ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण धरोहरों को ध्यान में रखकर सजाया गया है। मुगलकाल में दिल्ली के पहले दरवाजे के नाम से मशहूर दिल्ली गेट के नाम पर तैयार मेट्रो स्टेशन में इसके इतिहास और समय के साथ बदलती पुरानी दिल्ली की झलक देखने को मिलेगी।