दिल्ली धुंध पर केजरी के 10 फैसले: बुधवार तक स्कूल बंद, 5 दिन शहर में कंस्ट्रक्शन पर रोक; सड़कों पर होगा पानी का छिड़काव

11
SHARE
राजधानी के लोग 17 साल के सबसे घने स्मॉग (धुंध और प्रदूषण) से बेहाल हैं। केजरीवाल सरकार ने रविवार को इस पर इमरजेंसी मीटिंग की। इसके बाद केजरीवाल ने कहा, ”दिल्ली की बेस लेवल पहले से ही ज्यादा था। हम पहले से ही पॉल्यूटेड थे। सरकार कुछ कदम उठा रही है, ताकि पॉल्यूशन कंट्रोल हो सके। लोगों को घर से काम करने की सलाह। ऑड-ईवन की तैयारी कर रहे हैं। स्कूल तीन दिन और बंद रहेंगे।” धुंध खत्म करने के लिए दिल्ली सरकार ने क्या लिए फैसले…
– केजरीवाल ने कहा, ”दिल्ली सरकार की तरफ से कई एक्सपर्ट्स को कंसल्ट किया। कई सारे लोगों से बात की। कुछ इमरजेंसी मेजर लिया गया है।”
– ”पांच दिन के अंदर हर किस की डेमोलेशन, कंस्ट्रक्शन बंद रहेगा।”
– ”सड़कों पर कल से पानी का छिड़काव बड़े लेवल पर होगा।”
– ”डीजी सेट्स 10 दिन के लिए बंद होंगे। जरूरी ही चलेंगे। मोबाइल टावर, हॉस्पिटल वाले इससे बाहर होंगे।”
– ”कई सारे कॉलोनी जो अनऑथराइज्ड हैं वहां डीजी सेट्स नहीं चलने देंगे।”
– ”बदरपुर प्लांट अगले दस दिन के लिए बंद रहेगा। फ्लाइ ऐश को वहां से ले जाना भी बंद रहेगा। जिस इलाके में राख मिलेगी, वहां के अफसरों पर कार्रवाई होगी।”
– ”वैक्यूम क्लीनिंग 10 नवंबर से शुरू होगी। हर रोड हफ्ते में एक बार साफ होगी।”
– ”तीन दिन के सभी स्कूल बंद किए जाएंगे।”
– ”लोगों को सलाह दी गई है कि वे जितना हो सके घर से काम करें।”
– ”ऑड-ईवन को फिर लागू करने पर भी विचार हो रहा है।”
– ”एक सुझाव आर्टिफिशियल रैन का भी आया है, लेकिन इसके लिए केंद्र की इजाजत लेनी होगी।”
केजरी ने कहा- केंद्र मदद करे
– ”सरकार की ऑड-ईवन स्कीम भी खास असर नहीं डाल पाई, क्योंकि स्टडी के मुताबिक, पड़ोसी राज्यों के खेतों में जल रही पराली से दिल्ली की हालत खराब हुई है। पटाखों से भी पॉल्यूशन लेवल बढ़ा है।”
– दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी के मुताबिक, शनिवार सुबह आनंद विहार और आरके पुरम में पार्टिकुलेट मैटर (PM10) की डेन्सिटी सेफ लेवल 100 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से करीब 12 गुना ज्यादा थी।
– राजधानी के कई इलाकों में PM 2.5 भी करीब 11 गुना ज्यादा रिकॉर्ड किया गया है। हवा जहरीली होने से लोगों को मास्क पहनकर निकलने की सलाह दी गई है।
– शनिवार को राजपथ पर विजिबलिटी 100 मीटर से भी कम रही। एनजीटी ने 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियों पर रोक लगाई। दिल्ली-एनसीआर में मास्क की बिक्री बढ़ी।
दिल्ली के 1800 स्कूलों की छुट्टी
– एयर पॉल्यूशन को देखते हुए शनिवार को दिल्ली के 1800 स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई। अगर सोमवार को भी हालात ठीक नहीं रहे तो छुट्टी बढ़ाई जा सकती है।
– दिल्ली के तीनों नगर निगम – साउथ, नॉर्थ और ईस्ट के स्कूलों में कुल दस लाख बच्चे पढ़ते हैं।
दिल्ली में क्यों बढ़ा पॉल्यूशन?
– सीएसई के मुताबिक, दिवाली पर हुई आतिशबाजी के चलते एन्वायरन्मेंट में जहरीले कणों की मात्रा खतरनाक लेवल को पार कर गई।
– दिल्ली में हवा की एयर क्वालिटी के खराब होने का एक कारण तेजी बढ़ते शहरीकरण को भी बताया जाता है।
– एक वजह खेतों में फसलों की पराली जलाने और लकड़ी या कोयले के चूल्हों से निकलने वाले धुएं को भी माना जाता है।