22 सॉल्वर, 26 मोबाइल, 10 लाख रुपये, छात्रों के दस्तावेज मिले

46
SHARE

उत्तर प्रदेश पुलिस परीक्षा में नकल का भंडाफोड़ करते हुए एसटीएफ़ ने यहां 22 सॉल्वर और छात्रों को गिरफ्तार किया है. सभी सॉल्वर हरियाणा के हैं और परीक्षार्थी पश्चिम उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं.सॉल्वर गिरोह ने एक परीक्षार्थी से नकल के नाम पर 4 से 5 लाख रुपये वसूले थे. इनके कब्जे से 26 मोबाइल, 10 लाख रुपये, प्रिंटर, लैपटॉप और भारी मात्रा में छात्रों के दस्तावेज मिले हैं. एसटीएफ़ के सीओ ब्रजेश कुमार के मुताबिक, इस गिरोह को कंकरखेड़ा इलाके में एक मकान से पकड़ा गया है. मास्टरमाइंड शकील है जो बागपत के कुरड़ी गांव का रहने वाला है. शकील का उप्र पुलिस कॉस्टेबल के पद पर हाल ही में चयन हुआ है. शकील ने एक दिन पहले हुई परीक्षा में कई जिलों में अपने सॉल्वर बैठाए थे. उसका दावा है कि ये सॉल्वर पकड़े नहीं गए. शकील ने एसटीएफ़ को बताया कि करीब 50 छात्रों से सौदा तय हुआ था.

हालांकि वह 10 छात्रों से ही पैसा वसूल पाया था. यह गिरोह आधार कार्ड पर फ़ोटो बदलकर सॉल्वर को परीक्षा कक्ष में बैठाते थे. इससे पहले इस गिरोह ने रेलवे ग्रुप-डी की परीक्षा में कथित रूप से सॉल्वर बैठाकर कई छात्रों का चयन कराया है. उधर यूपी पुलिस कांस्टेबल की लिखित परीक्षा में बुधवार सुबह की पाली में एक युवक को गिरफ्तार किया गया है. परीक्षा के नोडल अधिकारी एसपी यातायात संजीव बाजपेई ने बताया कि अभी तक की जांच पड़ताल में सामने आया है की अभ्यर्थी दूसरे अभ्यर्थी के नाम पर परीक्षा देने पहुंचा था. वेंकटेश्वरा इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एनएच-58 से पकड़ा गया आरोपी गंगा सिंह निवासी धौलपुर, राजस्थान बताया गया है. यह राम लखन के नाम पर परीक्षा दे रहा था.

पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर प्रवेश कार्ड और अभ्यर्थी के मूल कागजात की जांच शुरू कर दी है. इससे पहले एसटीएफ ने कल गोरखपुर से 11 और इलाहाबाद से पांच लोगों को इस मामले में पकड़ा था. गौरतलब है कि कांस्टेबल के 41 हजार 520 पदों को भरने के लिए 56 जिलों के 860 भर्ती केन्द्रों पर दो दिवसीय परीक्षा संचालित हो रही है. एसटीएफ के महानिरीक्षक अमिताभ यश ने बताया कि गोरखपुर से 11 और इलाहाबाद से पांच लोग पकड़े गये हैं. इलाहाबाद के एसएसपी नितिन तिवारी ने जानकारी दी कि इससे पहले इलाहाबाद में तीन और लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया. उनके पास से जासूसी माइक (स्पाई माइक) और कान में लगाया जाने वाला एक छोटा उपकरण बरामद किया गया है.

source-NDTV