कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा: नकल कराने वाले गिरोह का भांडाफोड़, एक अभ्यर्थी से 5 लाख रुपये तक चार्ज करते थे

104
SHARE

पुलिस ने परीक्षाओं में नकल कराने वाले एक गिरोह का भांडाफोड़ किया है. इलाहाबाद में पुलिस ने लोक सेवा आयोग (PSC) द्वारा आज और कल होने वाली यूपी पुलिस की कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल की तैयारी कर रहे तीन लोगों को पकड़ा है. इनके पास से परीक्षा के दौरान नकल के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्पाई माइक समेत अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस भी बरामद की गई है. इलाहाबाद के एसएसपी नितिन तिवारी ने गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए बताया कि तीनों कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल की तैयारी कर रहे थे. जांच में पता लगा है कि इनमें से एक व्यक्ति परीक्षा में बैठता था और वह क्वेश्चन पेपर (प्रश्नपत्र) मिलने के बाद तत्काल इसकी फोटो खींचकर बाहर बैठे सॉल्वर को भेज देता था. इसके बाद सॉल्वर स्पाई माइक के जरिये प्रश्ननों का जवाब बताता था.

एसएसपी नितिन तिवारी ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि ये एक अभ्यर्थी से 5 लाख रुपये तक चार्ज करते थे. तीनों व्यक्तियों से पूछताछ जारी है और पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि उनके साथ और कौन-कौन लोग शामिल हैं. पुलिस अन्य बिंदुओं पर भी पड़ताल कर रही है. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा 2018 का आयोजन आज और कल उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों में किया जा रहा है. यह परीक्षा पुलिस महकमे में लंबे समय से खाली पड़े 41 हजार से ज्यादा पदों को भरने के लिए आयोजित की जा रही है. इस बार परीक्षा में सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है. नकलचियों पर लगाम लगाने और पारदर्शिता के लिए प्रत्येक केंद्र पर एक-एक इंस्पेक्टर ऑब्जर्वर के रूप में तैनात किया है और इंस्पेक्टर की निगरानी में ही ओएमआर शीट का पैकेट खुलेगा. इसके अलावा एक सब इंस्पेक्टर परीक्षा कक्षों का दौरा करेगा और दूसरा सब इंस्पेक्टर गेट पर तैनात रहेगा.

source-NDTV