आगरा के शमसाबाद थाना पर तैनात सिपाही अजय यादव की गोली मारकर हत्या

63
SHARE

आगरा. शमसाबाद थाना पर तैनात सिपाही अजय यादव की थाना से बमुश्किल 500 मीटर दूरी पर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई। बाइक सवार हमलावर उनकी पिस्टल भी लूट ले गए। एक हमलावर ने उनके हाथ पकड़ लिए थे। दूसरे ने सटाकर सीने में गोली मारी। उनकी मौके पर ही मौत हो गई है। वारदात में किसी परिचित का हाथ माना जा रहा है। मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि तीन हमलावरों में से एक सिपाही की बाइक पर ही बैठा था। दो दूसरी बाइक पर थे। थाना के पास आने पर उनमें कहासुनी हुई, जो गुत्थम गुत्था में बदल गई। इसकेबाद गोली मार दी गई। मौके पर आईजी सुजीत पांडे भी पहुंचे। पुलिस फिलहाल हत्यारों का कोई सुराग नहीं लगा पाई है।

 

अजय यादव 2005 बैच के सिपाही थे। मूल रूप से मैनपुरी के किशनी के चांदा गांव के रहने वाले थे। उनके भाई दिनेश यादव भी सिपाही हैं। वह कन्नौज में तैनात हैं। पिता की मृत्यु हो चुकी है। वह सेना में सूबेदार रहे   थे। अजय यादव बुधवार रात करीब सात बजे थाना शमसाबाद से थोड़ी दूरी पर लगे मेले से वापस थाना आ रहे रहे थे।
वह सिविल यूनिफार्म में थे। शमसाबाद-फतेहाबाद बाइपास के रजाखेड़ा रोड पर स्थित गढ़ीथाना पर यह वारदात हुई। अजय यादव की बाइक पर पीछे एक युवक बैठा था। साथ चल रही अपाचे बाइक पर दो और युवक थे। चारों में बातें हो रही  थीं। तभी कहासुनी होने लगी। चश्मदीद दुकानदार ने बताया कि चारों बाइक से उतर गए। एक युवक ने अजय के हाथ पकड़ लिए। दूसरे ने उन पर पिस्टल तान दी। अजय ने भागने की कोशिश की लेकिन उन्होंने छोड़ा नहीं। एक और ने पकड़ लिया।