भारतीय संस्कृति को समाप्त करने की साजिश, राम रहीम तो सीधे साधे हैं उन पर कार्रवाई कर दी: साक्षी महाराज

158
SHARE

बाबा रामरहीम को सीबीआइ कोर्ट ने दोषी करार दिये जाने पर सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि ये भारतीय संस्कृति को समाप्त करने की साजिश है। उन्होंने कहा कि बाबा रामरहीम को उनके भक्त धरती का दूसरा भगवान मानते हैं, मैं कोर्ट का पूरा सम्मान करता हूं लेकिन क्या न्यायालय को उन 5 करोड़ लोगों की आवाज नहीं सुनाई दे रही जो उनके भक्त हैं। करोड़ो लोगों के मान का मर्दन करके एक व्यक्ति पर सिर्फ एक व्यक्ति द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए जाने के बाद सजा सुना दी गयी।

साक्षी ने कहा कि कर्नल पुरोहित नौ साल बिना अपराध के जेल में रहे और बाद में क्या निकला? इसका जिम्मेदार कौन होगा। बाबा राम रहीम को करोड़ो लोग तो भगवान की तरह मानते हैं और सिर्फ एक व्यक्ति उन्हें बलात्कारी मान रहा है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है करोड़ो लोगो की भावना आहत हुई है। इसके लिए कौन जिम्मेदार है। आज फैसला आने के बाद करोड़ो लोगों का हुजूम सड़कों पर उतर आया है। लॉ एंड आर्डर फेल हो गया, लोग मर गए हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए कौन जिम्मेदार होगा यह बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। क्या इसके लिए न्यायालय अपनी जिम्मेदारी सुनिश्चित करेगा। आखिर में सांसद साक्षी ने यह भी कहा कि मैं बाबा राम रहीम का वकील नही हूं, लेकिन फिर भी कहूंगा कि आसाराम, प्रज्ञा ठाकुर, कर्नल पुरोहित, असीमानंद जैसे सैकड़ो नाम इसके उदाहरण हैं। यह भारतीय संस्कृति को खत्म करने की साजिश है। राम रहीम तो सीधे साधे हैं उनपर कार्रवाई कर दी, जामा मस्जिद के इमाम जिन पर सैकड़ों मुकदमे दर्ज हैं अगर किसी में दम हैं तो उस पर कार्रवाई करके दिखाये।