अखिलेश के DIAL 100 के खिलाफ साजिश: नेटवर्क ठप करने के लिए एक दिन में किए गए 1.90 लाख कॉल्‍स

17
SHARE
Lucknow: Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav addressing after laying foundation stone of U P Police's statewide Dial 100 project in Lucknow on Saturday. PTI Photo by Nand Kumar (PTI12_19_2015_000254A)
अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्‍ट डायल 100 के खिलाफ साजिश का मामला सामने आया है। डायल 100 के सिस्‍टम को ध्‍वस्‍त करने के लिए प्‍लान्‍ड तरीके से ब्‍लैंक कॉल्‍स की गई। इन ब्‍लैंक कॉल्‍स को जब ट्रेस किया गया तो इनमें से ज्‍यादातर एक ही आईपी एड्रेस से की गईं थीं। यहां तक कि एक टाइम में लगभग 600 कॉल एक आईपी एड्रेस से की गई। यूपी डायल 100 के अफसर इस साजिश की जांच कर रहे हैं।
क्षमता से 6 गुना आई डायल 100 में कॉल
– यूपी डायल 100 की सर्विस 19 नवंबर को शुरू हुई है। पहले फेज में यह 11 राज्यों के लिए शुरू हुई है, जबकि 15 दिसंबर से सभी 75 राज्यों के लिए यह सर्विस शुरू की जानी है।
– शुरूआती दौरा में यूपी डायल 100 की सुविधा को अधिकतम 30 हजार कॉल अटेंड करने के लायक बनया गया है।
– लेकिन इसके उलट हर दिन करीब 1.80 लाख से 1.90 लाख कॉल्‍स यूपी डायल 100 में आने लगीं। यह इसकी क्षमता से लगभग 6 गुना अधिक थीं।
– इसकी वजह से पूरा सिस्‍टम कुछ देर के लिए बैठ जाता है।
एक आईपी एड्रेस से की गई 600 कॉल
– यूपी डायल 100 ने जब इन कॉल्‍स को ट्रेस किया तो इनमें से मात्र 10 हजार कॉल्‍स सही पाईं गईं। वहीं, यह भी पाया गया कि कुछ कॉल्‍स नेटवर्क प्रॉब्‍लम की वजह से ड्रॉप हुईं थीं।
– बाकी कॉल्‍स ऐसी थीं जो कि 50 सेकेंड चलीं थी, लेकिन इनसे कोई मैसेज रिसीव नहीं हुआ न ही कोई कंप्‍लेन दर्ज की गई।
– जब इन कॉल्‍स को ट्रेस किया गया तो डायल 100 को पता चला कि ये कॉल्‍स मोबाइल नहीं बल्कि इंटरनेट के माध्‍यम से की गईं थीं।
– सबसे चौकाने वाली बात ये है कि एक बार में एक ही आईपी एड्रेस से 600 कॉल्‍स तक की गईं। ऐसी कॉल्‍स चुनिंदा आईपी एड्रेस से की गईं थीं।
– एक साथ आईं 600 कॉल्‍स की वजह से डायल 100 सेवा पूरी तरह से ठप हो जाती थी। क्‍योंकि एक साथ इतने कॉल अटेंण्‍ड करना बेहद डायल 100 के एग्‍जिक्‍युटिव के लिए मुश्किल होता।
50 सेकेंड की थीं ब्‍लैंक कॉल्‍स
– ये सभी ब्‍लैंक कॉल्‍स 50 सेकेंड के लिए चलती थीं। इस दौरान कॉलर की तरफ से कोई भी मैसेज ड्रॉप नहीं किया जाता।
– इसकी वजह से करीब 50 सेकेंड के लिए एक कस्‍टमर केयर एग्‍जिक्‍युटिव बीजी रहता है। क्‍योंकि वो इस दौरान फोन डिस्‍कनेक्‍ट नहीं कर सकता।
अलग-अलग इलाकों से आईं ब्‍लैंक कॉल्‍स
– यूपी डायल 100 को जांच में पता चला कि ये ब्‍लैंक कॉल्‍स अलग-अलग इलाकों से आई थीं।
– जिस हिसाब से बल्‍क में ब्‍लैंक कॉल्‍स की गईं हैं उससे यह लगता है कि पूरे प्‍लांड तरीके से इस साजिश पर काम किया गया है।

सर्विस प्रोवाइडर को भेजा जाएगा नोटिस
– एडीजी ट्रैफिक अनिल अग्रवाल ने इस साजिश के खिलाफ बताया कि ब्‍लैंक कॉल्‍स करने वाले सभी आईपी एड्रेस को नोट कर लिया गया है।
– इनके खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी चल रही है। इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के खिलाफ नोटिस जारी किया जाएगा।
– साथ ही जो भी इस साजिश के पीछे है उनके नाम जल्‍द उजागर किए जाएंगे।