सीएम योगी बोले कि सहारनपुर हिंसा में वे ही लोग शामिल थे, जो अवैध काम कर रहे थे

41
SHARE

अपनी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकारी चैनल दूरदर्शन को इंटरव्यू दिया है. इंटरव्यू के दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लोगों को सरकार पर विश्वास है, वह सरकार के कार्यक्रम में सहभागी बन रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमें कार्यसंस्कृति को पुर्नस्थापित करना है, जिसे देश में भ्रष्टाचार की राजनीति ने बर्बाद कर दिया था. योगी ने कहा कि हम लोग नई कार्यसमिति को जन्म दे रहे हैं.

24 घंटे में शुरू हुई कार्रवाई
इंटरव्यू के दौरान योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमनें अवैध बूचड़खानों और एंटी रोमियो स्कवायड पर सरकार बनने के 24 घंटे के बाद ही काम करना शुरू कर दिया था. अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई करने से राज्य में अवैध गौकशी भी रुकी है, इस पर जो हाईकोर्ट का फैसला आएगा उसके अनुसार काम करेंगे. NGT और SC के पालन के तहत ही स्लॉटरिंग हो पाएगी.

पहले यहां जंगलराज था
एंटी रोमियो दस्ते पर भी लोगों ने सवाल उठाए थे, लेकिन महिलाओं का समर्थन मिला था. इस पर आगे भी काम चलता रहेगा. कानून व्यवस्था पर योगी बोले कि जब हमने सत्ता संभाली थी, तब यहां पर अराजकता-जंगलराज था. यहां पर भू-माफिया लोगों की जमीनों पर कब्जा कर रहे थे.

कानून से खिलवाड़ की छूट नहीं
हमनें सत्ता में आने के बाद अवैध खनन, अवैध बूचड़खानों को रोका है. हमनें सभी अवैध गतिविधियों को रोक दिया है. सभी की गतिविधियों पर हमारी नजर हैं. सरकार के आने के बाद अपराधी जेल में हैं, कानून के साथ खिलवाड़ करने की किसी को छूट नहीं मिलेगी. बरेली मामले पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो भी व्यक्ति कानून तोड़ेगा उस पर कार्रवाई होगी, बरेली मामले में NSA लगा सकते हैं. आपको बता दें कि बरेली मामले में हिंदू युवा वाहिनी के लोग शामिल थे.

सहारनपुर में अधिकारियों की गलती
सीएम योगी बोले कि सहारनपुर हिंसा में वे ही लोग शामिल थे, जो अवैध काम कर रहे थे जब उन्हें रोका गया तो ये हिंसा हुई. भीम आर्मी के पीछे इसे प्रकार के तत्व हैं, जिससे हिंसा को कराया गया. पिछली सरकार में हर हफ्ते एक दंगा होता था, लेकिन इस सरकार में एक भी सांप्रदायिक दंगा नहीं हुआ है. सहारनपुर में डीएम और एसपी ने मूर्खतापूर्ण काम किया.

जेवर की घटना दुर्भाग्यपूर्ण
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जेवर की घटना काफी दुर्भाग्यपूर्ण थी. जेवर घटना के आरोपी प्रदेश छोड़कर भाग गए, लेकिन हम उनके पीछे पड़े हुए हैं. उनपर जरूर कार्रवाई करेंगे. प्रदेश की व्यवस्था बिगड़ गई थी, यहां सिर्फ एक परिवार के इर्द-गिर्द व्यवस्था चलती थी. कभी पुलिसवालें अपने विवेक से निर्णय नहीं ले सकते थे, उनकी स्थिति सर्कस के शेर की तरह हो गई थी. हमनें प्रशासन को निर्णय लेने की छूट दी.

मायावती को नहीं जाना चाहिए था
सहारनपुर में बिना किसी कारण मायावती को जाने की मंजूरी दी गई. इस पर मैंने प्रशासन को फटकार लगाई थी. वे लोग हिंसा भड़काने में शामिल रहे हैं, वह वहां पर शांति कैसे कर सकती हैं. हमने एसपी पर सख्त कार्रवाई की, और सजा दी. योगी ने कहा कि मैं पूरे प्रदेश का दौरा कर चुका हूं, सभी को उनके काम के बारे में बता चुका हूं. अगर कोई गलती हुई तो सख्त कार्रवाई होगी. मुझे प्रदेश की 22 करोड़ जनता की चिंता है.