मुख्यमंत्री ने 10 विद्युत उपकेंद्रों का लोकार्पण किया, बोले-75 जिलों को बराबर बिजली देंगे

81
SHARE

शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहरी गरीबों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देने की योजना की शुरुआत की। लखनऊ के 100 गरीब परिवारों को मुफ्त कनेक्शन देकर सीएम योगी ने ई-निवारण मोबाइल एप भी लॉन्च किया गया। इस एप के जरिए उपभोक्ता मोबाइल फोन पर ही अपना बिजली का बिल बना सकेंगे, देख सकेंगे और जमा भी कर सकेंगे। टोल फ्री नंबर 1912 पर या एसएमएस के जरिए शिकायत दर्ज कराने वाले उपभोक्ता भी इस एप से सुनवाई की स्थिति पता कर सकेंगे।मुख्यमंत्री ने 10 विद्युत उपकेंद्रों का भी लोकार्पण किया।

सीएम ने कहा- ऊर्जा मंत्रालय ने वास्तव में प्रदेश में 100 दिन के अंदर वो करके दिखाया है जो 10 सालों में नहीं हुआ। बिजली देंगे तो सिर्फ 10 जिलों को देंगे। ये कैसी सरकार थी जो भेदभाव करती थी अपने ही नागरिकों के साथ। ये पहली सरकार है जिसने कहा कि हम सभी 75 जिलों को बराबर बिजली देंगे। पिछले सरकार के द्वारा तमाम ऐसे एग्रीमेंट किए गए थे जिससे प्रदेश की जनता पर 5 हजार करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ता। हमने आते ही उन एग्रीमेंट को रद्द किया।

सीएम ने आगे कहा – हमारे सामने एक चैलेंज है प्रदेश के अंदर 60 लाख ऐसे परिवार हैं जिनके पास बिजली नहीं है। अगर वो कनेक्शन लेना भी चाहते हैं तो उन्हें नहीं दिया जाता। आज बिजली विभाग ने कह दिया कि हम देंगे। बिजली आज की जरूरत है। बिजली बुनियादी आवश्यकता है। हम बिजली देने में भेदभाव नहीं करेंगे। बिना भेदभाव के, बिना किसी रंग रूप के हम बिजली देंगे। ये जनता का अधिकार है। ये उसे मिलना चाहिए। घोषणा से, भाषणों से, नारों से व्यवस्थाएं आगे नहीं चल सकती। हम सभी को बिजली उपलब्ध कराएंगे। आप विकास चाहते हैं, पलायन रोकना चाहते हैं, नए उद्योग धंधे लाना चाहते हैं, इसके लिए हम सब को सामुहिक प्रयास करना होगा। जिन शहरों में लाइन लॉस 10 प्रतिशत से कम आएगा वहां 24 घंटे बिजली देंगे।

सीएम ने आगे कहा – मैं पहले हेलीकॉप्टर से चलता था तो अंधेरा दिखाई देते ही समझ जाता था कि उत्तर प्रदेश की शुरुआत हो गई। पहले रात्री में बिजली नहीं रहती थी, घरों में डकैती पड़ जाती थी। डकैती की एफआईआर नहीं लिखी जाती थी।