CM प्रदेश के पहले हाईटेक बस टर्मिनल का इनॉगरेशन करेंगे, 50 करोड़ में निर्माण, यात्रियों के लिए 125 कमरों का होटल

117
SHARE

मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यूपी के पहले हाईटेक इंटरनेशनल बस अड्डे का इनॉगरेशन करेंगे। अत्याधुनिक तकनीक से लैस आलमबाग इंटरनेशनल बस अड्डा करीब 3.6 एकड़ में बना है। यह पहला ऐसा बस अड्डा होगा, जहां मेट्रो से यात्री सीधे बस टर्मिनल पर प्रवेश कर सकेंगे। आलमबाग बस स्टेशन का नाम कभी डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर बस स्टेशन था। 2012 में जब प्रदेश में अखिलेश यादव के नेतृत्व में सपा की सरकार बनी तो इसको तोड़कर नया बस अड्डा बनना शुरू हो गया था।

क्या है हाईटेक बस अड्डे की विशेषता
– 125 कमरों का होटल और छह मल्टी स्क्रीन।
– बैंक-पोस्ट ऑफिस के साथ खाने का है बेहतर इंतजाम।
– पूरा बस अड्डा एयर कंडीशन है।

ड्राइवर और कंडक्टर के रुकने के लिये अलग से डारमेट्री बनी है। पूरी से तरह से अत्याधुनिक इस बस अड्डे पर सीसीटीवी कैमरों से निगरानी होगी। यूपी टूरिज्म ऑफिस, एयर टिकटिंग काउंटर, स्टॉफ के लिए 100 बेड की डारमेट्री, वाई-फाई के साथ एसी व नॉन एसी कॉनकोर्स, लगेज स्कैनर।

यात्रियों को क्लॉक रूम की सुविधा फूड लाउंज के साथ एसी और नॉन एसी वेटिंग रूम भी है। 45 प्लेटफार्म, चार रिजर्व प्लेटफार्म, 50 बसों की पार्किंग की सुविधा, 200 यात्री वाहन पार्किंग की सुविधा, बसों की मरम्मत के लिये दो पिट, 17 टिकट व पूछताछ काउंटर बने हैं। बस अड्डे से निकलने के बाद बसें रोड पर यात्रियों को लेने के लिए ना खड़ी हो, इसके लिए भी इंतज़ाम किया गया है। एक मोबाइल वैन यहां पर लगाई जाएगी जो बसों को यहां पर खड़ा होने से रोकेंगी।

50 करोड़ रुपए की लागत से 3.6 एकड़ में यह बस अड्डा बना है। यह पहला ऐसा बस अड्डा होगा, जहां मेट्रो से यात्री सीधे बस टर्मिनल पर प्रवेश कर सकेंगे। इसके लिये एक अलग से रास्ता तैयार किया गया है, जिसको सीधे बस अड्डे के पहले तल से जोड़ा गया है।

रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक एके सिंह ने बताया कि बस टर्मिनल से यात्रियों के लिए 750 बसें मिलेंगी। इनमें सब तरह की एसी बस सेवाएं शामिल होंगी। यात्रियों को गोरखपुर, कानपुर, बनारस, इलाहाबाद तक व आगे के जिलों को जाने वाली बसें भी इसी बस टर्मिनल से मिलेंगी। आलमबाग बस टर्मिनल आरंभ होने के बाद चारबाग से छोटी दूरी की बसें मिलेंगी। मसलन, फैजाबाद, बाराबंकी जैसे मार्ग के लिए बसें यात्रियों को चारबाग से ही मिलेंगी। यूपी के अलावा यहां से राजस्थान, दिल्ली, उत्तराखंड के लिए बसें जाएंगी।

source-Dainik Bhaskar