सीएम और डिप्टी सीएम विधानपरिषद की सदस्यता लेंगे

202
SHARE

समाजवादी पार्टी तथा बहुजन समाज पार्टी के विधान परिषद सदस्यों के इस्तीफा देने के बाद भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने का लाभ लेने को भाजपा तैयार है। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा व केशव प्रसाद मौर्य का विधान परिषद में जाना तय है। माना जा रहा है कि यह तीनों जल्दी ही विधान परिषद की सदस्यता लेंगे।

देश में शीर्ष तीन पद राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति तथा प्रधानमंत्री का पद भाजपा के पास होने के बाद उत्तर प्रदेश में भी अब सब पटरी पर आने जा रहा है। यहां विधान परिषद की खाली सीटों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा व केशव प्रसाद मौर्य काबिज होंगे। प्रदेश की सत्ता पर काबिज भाजपा इसके बाद खाली होने वाली दो संसदीय तथा एक विधानसभा सीट पर उप चुनाव की तैयारी में जुटेगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के कल उपराष्ट्ररपति पद के लिए मतदान के बाद लोकसभा से इस्तीफा देने की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। साथ ही पार्टी ने डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा सहित दो मंत्रियों के लिए भी सदन जाने का रास्ता खोल दिया है। प्रदेश में 14 वर्ष का वनवास झेलने के बाद सत्ता में लौटी भाजपा का प्राथमिक उद्देश्य अपने मुख्यमंत्री सहित पांच महत्वपूर्ण नेताओं को सदन में पहुंचाना है। इसके लिए पार्टी ने अपनी रणनीति तैयार कर ली है।

प्रदेश के तीन दिन के दौरे पर आए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी अमित शाह भी इसका संकेत दे चुके हैं। अभी भी भाजपा के नेता लगातार विपक्षियों को तोडऩे में जुटे हैं।

अभी तक समाजवादी पार्टी से एमएलसी बुक्कल नवाब, यशवंत सिंह, डॉ. सरोजनी अग्रवाल और बसपा से ठाकुर जयवीर सिंह इस्तीफा देकर भगवा रंग में रंग चुके हैं।

इनके बाद भी और कई विधान परिषद भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने को आतुर हैं। भाजपा अब विधानपरिषद में अपनी संख्या भी बढ़ा रही है।

source-DJ