मंदसौर में किसानों की DM से हुई मारपीट, फिर उग्र हुआ आंदोलन

44
SHARE

मध्य प्रदेश के मंदसौर में कर्फ्यू लगने के बावजूद हालात काबू से बाहर हैं. कल आंदोलन हिंसक होने के बाद गोली चलने से पांच लोगों की मौत हो गई थी. मारे गए किसानों के परिजनों को दिए जाने वाला मुआवजा बढ़ा कर एक करोड़ कर दिया गया है. वहीं कल के गोलीकांड के खिलाफ मंदसौर के बरखेड़ापंत गांव में किसानों ने रास्ता रोका है, जिसके बाद इलाके में तनाव है. हालात को काबू करने के लिए भारी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है. इस दौरान यहां डीएम स्वतंत्र सिंह के साथ लोगों ने मारपीट की है और उनके कपड़े फाड़ने की कोशिश भी की है.

 

आज किसान संगठनों ने मध्य प्रदेश बंद बुलाया है और कांग्रसे भी इसका समर्थन कर रही है. मंदसौर फिलहाल शांत हैं. मंदसौर में कर्फ्यू की नौबत हिंसा के बाद आई. पिपरियामंडी बही चौपाटी पर उपद्रवियों की तरफ से आगजनी की गई. पांच जून को भी उपद्रवियों ने ट्रकों का सामान लूट लिया गया था. उपद्रवी जिस जगह से निकले वहां दुकानें तोड़ी गईं और छोटे-छोटे दुकानदार यहां तक की महिलाओं की दुकानों तक को लूट लिया गया.