चीन ने बॉर्डर पर किया युद्धाभ्यास, बोला भारत की गलतफहमी दूर करने के लिए

135
SHARE

चीन ने सरकारी अखबार ने दावा किया है कि सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में चल रही भारत के साथ तनातनी के बीच चीनी सेना ने समुद्र तल से 5100 मीटर की ऊंचाई पर पूरे साजो सामान के साथ सैन्य अभ्यास किया है.

ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस सैन्य अभ्यास में पीपुल लिबरेशन आर्मी के सबसे उन्नत युद्धक टैंक 96बी भी शामिल थे. हालांकि रिपोर्ट में यह दावा नहीं किया गया है कि यह सैन्य अभ्यास कब हुआ है. लेकिन अखबार ने गुरुवार को ‘मिलिट्री ताकत की गलतफहमी न पाले भारत’ शीर्षक वाली खबर में इस बारे में इंगित किया था.

पीएलए एयर फोर्स कमांड कॉलेज के वाइस प्रेसिडेंट और पीएलए के रिटायर्ड जनरल झू हेपिंग ने कहा कि भारत डोकलाम में सड़क निर्माण को रोक नहीं पाएगा. बता दें कि 16 जून को इस रोड के निर्माण को भारतीय सैनिकों द्वारा रोकने के बाद और भूटान द्वारा आपत्ति जताने के बीच चीन के साथ सीमा पर तनातनी बढ़ गई है. चीन इस इलाके को अपना हिस्सा मानता है.

रिटायर्ड मेजर जनरल झू ने कहा, ‘भारत का हस्तक्षेप चीन को लेकर उसका रुझान दर्शाता है. यह एक बहुत ही छोटा और संकरा इलाका है, जहां बड़ी संख्या में सैनिकों को पूरी तरह तैनात भी नहीं किया जा सकता.’

उन्होंने सवाल करते हुए कहा, ‘क्या आपको लगता है कि कुछ मिलिट्री वाहनों और सैनिकों के साथ सीमा पर चीन के सड़क निर्माण कार्यक्रम को रोका जा सकता है.’ झू ने कहा कि चीनी सेना लगातार ताकतवर और मजबूत होती जा रही है और भारतीय सेना उसके मुकाबले में नहीं है. भारत की उकसाने वाली कार्रवाई का कोई असर नहीं होने जा रहा है.