हमारी सरकार ने कम समय में ही प्रदेश का नक्शा बदलने का प्रयास किया: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

124
SHARE

आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर में कहा कि पिछली सरकार में ग्रामीण आवास योजना एवं नि:शुल्क विद्युत कनेक्शन के लाभार्थियों को प्रमाण-पत्र वितरित किया। इस कार्यक्रम के दौरान ही अपनी सरकार की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने अपने कम समय के कार्यकाल में ही प्रदेश का नक्शा बदलने का प्रयास किया है। सरकार बिना किसी भेदभाव व क्षेत्रवाद के विकास का काम कर रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विकास की योजनाओं में तुष्टीकरण नहीं होने देंगे जो भी भारतीय संविधान को मानेगा उसे योजनाओं का लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश में बिजली सिर्फ पांच जिला तक सीमित नहीं है। हमने इस व्यवस्था को बदला है। अब जिला मुख्यालय को 24 घंटे, तहसीलों को 20 घंटे तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे बिजली मिल रही है। हमने यह काम अंबेडकर जयंती पर 14 अप्रैल को किया था।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के 24 लाख लोगों को 2019 तक आवास मिलेंगे। बिना भेदभाव के सभी का विकास करना हमारा लक्ष्य है.। ऐसा नहीं है कि सीएम का जिला है तभी बिजली मिलेगी। हमारी सरकार किसी से भेदभाव नहीं कर रही है।

उन्होंने कहा कि सहारनपुर में 12 माफिया का राज होता था। इनमें एक खनन माफिया और एक भूमाफिया पर तो हमने ऐसी लगाम लगा दी है कि अब वह तो यहां आसपास नहीं दिखते हैं। उन्होंने कहा कि हमने यहां के प्रशासन को कह दिया है कि यदि कुछ भी अवैध हुआ तो उसकी जवाबदेही उनकी ही होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सहारनपुर वासियों के लिए पॉपुलर की समस्या बड़ी है। हम इसका भी हल निकालेंगे। हम यहां के युवाओं के लिए सहारनपुर जिले का औद्योगिक विकास करेंगे।

हमारी सरकार सड़क के साथ बिजली तथा आवास के लिए काम कर रही है। विधायक, मंत्री सभी को विकास कार्यों की देखरेख के लिए लगाया गया है। उन्होंने कहा कि आप हमारा सहयोग करें, हम आपको सुरक्षित वातावरण देंगे। सहारनपुर के किसानों, नौजवानों की देखभाल करना हमारा फर्ज है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कुछ लोग कांवड़ यात्रा से पहले ही कांवड़ यात्रा तथा डीजे पर बैन लगाने की बात करते थे। मगर हमने उनको कह दिया कि वह अपनी जुबान पर बैन लगाएं। पर्व और त्योहार एकता के प्रतीक हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के उस बयान का भी मखौल उड़ाया जिसमें उन्होंने जन्माष्टमी पर हर थाने को पांच-पांच लाख रुपया देने की बात कही थी।

उन्होंने कहा कि त्यौहार व्यवहार व एकता का प्रतीक हैं। समरसता के प्रतीक भगवान शिव से कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए। भगवान शिव से बड़ा कोई उदाहरण देखने को नहीं मिलेगा। हम प्रदेश में ईद-मोहर्रम, दिवाली-दशहरा भी मनाएंगे। ईद के मौके पर भी हमनें कोई रोक-टोक नहीं की। कानून के दायरे में रहकर हर कार्य उचित है।

हमने लघु व सीमांत किसानों का कर्ज माफ किया। किसानों का कर्ज माफी का प्रमाण पत्र भी हमने देना प्रारंभ कर दिया है। सभी किसानों को चिन्हित कर उनको उचित लाभ दिया जायेगा। हमारा लक्ष्य है कि किसान उन्नत हो और खुशहाल बनें। इसके लिए हम अपनी तरफ से कोई कमी नहीं रखना चाहते हैं।

गन्ना किसानों को हमारी सरकार ने राहत देने का काम किया है। हमारी सरकार चाहती है कि चीनी मिल चलें। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आम जनता की सरकार है। सरकार हर कदम उठाने को तैयार है जिससे भ्रष्टाचार खत्म हो। गरीबों के पास राशन कार्ड नहीं था। हम गरीबों को मुफ्त बिजली दे रहे हैं।