मुख्यमंत्री ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की, डिप्टी सीएम ने कहा राजनीतिक साजिश

66
SHARE

सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में किए गए बदलाव के विरोध में जारी प्रदर्शन ने देश के कई हिस्सों में हिंसक रूप ले लिया। मेरठ और आगरा जिले में प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ हिंसक झड़प हो गई। जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस चौकी और एक बस को आग के हवाले कर दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार पिछड़े और दलितों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। यदि कोई समस्या है तो उसे सरकार के समक्ष रखें।

डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने आंदोलित लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही किसी के बहकावे में आने से बचने को भी कहा है। डिप्टी सीएम ने इस प्रदर्शन के पीछे राजनीतिक साजिश की आशंका जताई है।

सुप्रीमो कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के विरोध में देश भर के दलित संगठनों ने सोमवार को भारत बंद का ऐलान किया था। सोमवार सुबह से ही पूरे देश में धरना प्रदर्शन जारी है। हालांकि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ रिव्यू पिटीशन दाखिल करने का भरोसा दिलाते हुए शांति बनाए रखने की अपील की थी।

केशव मौर्य ने आम जनता से प्रदर्शनों से दूरी बनाए रखने की अपील की, उन्होंने कहा कि भाजपा ही दलितों, वंचितों और गरीबों की हितैषी इससे सपा-बसपा और कांग्रेस को बेचैनी हो रही है, इसीलिए देश का महौल बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है।