मुख्यमंत्री का चुनावी ‘मास्टर स्ट्रोक’ 22 जिलों में 30 नए ब्लाक गठित

21
SHARE

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मास्टर स्ट्रोक चलते हुए प्रदेश में तीस नए ब्लाकों के गठन का फैसला लिया है। पहली मर्तबा इतनी बड़ी संख्या में एक साथ ब्लाक गठित कर समाजवादी सरकार ग्रामीण इलाकों में अपनी पकड़ को बरकरार रखना चाहती है। प्रदेश में अब ब्लाकों की संख्या 821 से बढ़कर 851 हो जाएगी। इस आशय का आदेश मंगलवार को जारी करने की जानकारी देते हुए ग्राम्य विकास मंत्री अरविंद कुमार सिंह ‘गोप ने दावा किया है कि इस फैसले से गांवों में विकास को गति मिलेगी|
प्रदेश के जिन 22 जिलों में नए ब्लाक गठित किए गए है उसमें अधिकतर सपा के प्रभाव वाले इलाके है। बदायं जिले में सर्वाधिक तीन नए ब्लाक बनाए गए जबकि रामपुर, अमरोहा, बाराबंकी, सोनभद्र, गाजीपुर व प्रतापगढ़ जिलों में दो-दो नए ब्लाकों के गठन का फैसला किया गया। भाजपा के प्रदेश महामंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने आरोप लगाया है कि प्रदेश सरकार ने विधानसभा चुनाव से ऐन पहले थोक के भाव ब्लाक गठित करने अपने बड़े नेताओं के चुनाव क्षेत्र को बचाने की कोशिश की परंतु जनता बहकावे में आने वाली नहीं है|

सरकार ने ब्लाक गठन में वरिष्ठ मंत्रियों के गृह जनपदों का विशेष ध्यान रखा है। सपा का गढ़ माने जाने वाले बदायूं जिले में स्थानीय विधायक आबिद रजा खां की नाराजगी से संभावित सियासी नुकसान की भरपाई के लिए तीन नए ब्लाक का तोहफा क्षेत्रीय जनता को दिया। रामपुर में संसदीय कार्यमंत्री आजम खान को ताकत देने के लिए दो नए ब्लाक गठित किए गए हैं। बता दें कि इस बार आजम के पुत्र अब्दुल्ला भी पहली बार चुनाव में उतरेंगे। ग्राम्य विकास मंत्री अरविंद कुमार सिंह गोप ने बाराबंकी जिले में लंबे समय से चली आ रही नए ब्लाक गठन की मांग को भी पूरा करा लिया। मुख्यमंत्री के करीबी माने जाने वाले सिंचाई विभाग में सलाहकार जावेद आब्दी भी अपने नौगांवा सादात को ब्लाक बनवाने में कामयाब रहे। वहीं प्रतापगढ़ जिले में दो नए ब्लाक बनवाने का वरिष्ठ मंत्री रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया कितना लाभ ले पाएंगे यह चुनावी नतीजे बताएंगे|
जिला नवगठित ब्लाक
1.बाराबंकी-सुबेहा व महादेवा।
2.सोनभद्र-कोन व करमा।
3.महोबा-श्रीनगर।
4.श्रावस्ती-लक्ष्मणपुर।
5.पीलीभीत-माधवटांडा।
6.बुलंदशहर-ककोड़।
7.इलाहाबाद-बराव।
8.कन्नौज-धदिया।
9.रायबरेली-खजूरगांव।
10.बदायंू-नाधा, दोदहरी, बिनावर।
11.अलीगढ़-गभाना।
12.गाजीपुर-नियोली व देवड़ी।
13.रामपुर-टांडा व पटवाई।
14.अमरोहा-उझारी व नौगांवा सादात।
15.बलिया-भीमपुरा।
16.बिजनौर-बढ़ापुर।
17.बहराइच-कारीकोट।
18.अंबेडकरनगर-बेवना।
19.कुशीनगर-कुबेरनाथ।
20.प्रतापगढ़-मंगापुर, उदयपुर व डेरवा।
21.उन्नाव-माखी।
22. बस्ती-चकेरवा बाबू।