CBI ने बलात्‍कारी और फरार बाबा वीरेंद्र दीक्षित के खिलाफ दर्ज किए 3 केस, आज कोर्ट में होना है पेश

32
SHARE

सीबीआई ने आध्यात्मिक आश्रम के नाम पर लड़कियों को बंधक बनाने वाले बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के ख़िलाफ बलात्कार के दो मामलों समेत कुल तीन मामले दर्ज किए हैं. दिल्ली हाइकोर्ट के आदेश पर सीबीआई ने 22 दिसंबर को ये मामला अपने हाथ में लिया था.

बाबा वीरेंद्र दीक्षित के कारनामे का सच दिसंबर में सामने आया, जब उनके आश्रम से करीब 100 महिलाओं और नाबालिग लड़कियों को छुड़ाया गया. इन सभी को दरवाजे की पीछे बंद रखा गया था. दिल्ली पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने के बाद से ही वह लापता है्.

दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में सीबीआई को जांच के आदेश दिए थे और कहा था कि रोहिणी स्थित आश्रम और इसके सदस्यों पर लगभग 10 एफआईआर होने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं करने पर पुलिस पर कोई विश्वास नहीं है.

दिल्ली के रोहिणी में आध्यात्मिक आश्रम के नाम पर वीरेंद्र दीक्षित पर कई महिलाओं और नाबालिग लड़कियों को अपने आश्रम में बंधक बना कर उनसे जानवरों सा सलूक करने का आरोप है.

आश्रम पर छापेमारी में कई लड़कियों को छुड़ाया गया था. छुड़ाई गई लड़कियों ने बताया था कि वीरेंद्र दीक्षित हमेशा उनका यौन उत्पीड़न करता था. आरोपी वीरेंद्र दीक्षित फिलहाल फरार है. गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश होना है.

एक पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में सीबीआई ने एक टीम का गठन किया है, जो कथित रूप से दीक्षित पर लगे यौन उत्पीड़न व महिलाओं और नाबालिग लड़कियों को बंधक बनाए जाने की जांच करेगी.