SP कैंडि‍डेट अमनमणि को CBI ने कि‍या अरेस्‍ट, कोर्ट ने तीन दिन की रिमांड पर भेजा

29
SHARE
पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि त्रिपाठी को पत्नी सारा सिंह की संदिग्‍ध मौत मामले में शुक्रवार को दिल्ली में सीबीआई ने अरेस्‍ट कर लिया। इससे पहले भी सीबीआई ने उससे पूछताछ की थी, लेकि‍न 9 सवालों के संतोषजनक जवाब नहीं मि‍ले थे। यही अब गि‍रफ्तारी की वजह बनी। अमनमणि को सपा ने यूपी विधानसभा चुनाव के लिए गोरखपुर के महाराजगंज जिले की नौतनवांं सीट से टिकट दिया है। 26 नवंबर का अपडेट…
शनि‍वार दोपहर बाद सीबीआई ने अमनमि‍ण को दि‍ल्‍ली की साकेत कोर्ट में पेश कि‍या।
उन्‍हें रि‍मांड पर देने के लि‍ए सीबीआई ने कोर्ट से गुजारि‍श की। सीबीआई के वकील ने कोर्ट से कहा कि‍ सारा मर्डर केस में अमन से अभी और पूछताछ आवश्‍यक है।
– इसके बाद कोर्ट ने अमनमणि को तीन दिन की सीबीआई रिमांड पर भेज दिया।
अमनमणि के पास इन सवालों का जवाब नहीं था
सवाल नं.-2 दोनों ने सीट बेल्ट बांध रखी थी लेकिन चोट केवल सारा को आई जबकि अमन को खरोंच तक क्‍यों नहीं आई?
सवाल नं.-3 जिस तरह से हादसा बताया गया उससे तो पूरी गाड़ी डैमेज हो जानी चाहिए, लेकिन हादसे में केवल सारा की सीट की तरफ का हिस्सा ही डैमेज क्‍यों हुआ?
सवाल नं.-4 हादसे में घायल होने पर अमन के शरीर पर खून के ताजा धब्बे क्‍यों नहीं मिले?
सवाल नं.-5 हादसे के चंद घंटे बाद भी अमन के रिश्तेदार और परिचित फिरोजाबाद पहुंच गए थे, जबकि सारा के परिवार को जानकारी तक क्‍यों नहीं हुई थी?
सवाल नं.-6 कार के अंदर किसी तरह के खून के निशान तक क्‍यों नहीं मिले?
सवाल नं.-7 सारा की गर्दन में चोट के निशान क्‍यों थे? चोट कैसे लगी?
सवाल नं.-8 गाड़ी की रफ्तार 120-130 कि‍मी प्रति घंटा तक होने के बावजूद हादसे के बाद भी छत पर लगा एरियल सुरक्षित था। गाड़ी की छत को भी कोई नुकसान नहीं हुआ। ऐसा कैसे?
सवाल नं.-9 सारा के सिर में चोट के बावजूद सीट के पीछे की तरफ एक जगह खून था जबकि पूरी गाड़ी साफ कैसे थी?
dainikbhaskar.com से सारा की मां ने क्‍या कहा
– सारा सिंह की मां सीमा सिंह ने शनि‍वार सुबह dainikbhaskar.com से कहा कि इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की अपील पहले की थी। सीबीआई ने अमन से कई बार पूछताछ की थी।
– सारा मर्डर के कई अहम सुराग सीबीआई को मिल गए जिसके आधार पर अमन की गिरफ्तारी की गई है। अब उससे फि‍र से पूछताछ होगी।
– सीमा सिंह ने कहा कि वह कानून की धज्जियां उड़ाने वाले अमरमणि और अमनमणि के खिलाफ खड़ी होंंगी।
– अमन को यूपी सरकार से खास ट्रीटमेंट मि‍ल रहा था, उसे वह खत्म कराने का प्रयास करेंगी।
अमनमणि की गि‍रफ्तारी पर नेताओं ने क्‍या कहा
– राजबब्‍बर ने कहा कि मामले में जो दोषी हो उसे सजा मिले,जो निर्दोश हों उन्हें छोड़ दिया जाए।
– यूपी बीजेपी अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि सपा की लि‍स्‍ट में ऐसे कई नेताओं के नाम होंगे।
– यूपी कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेश मिश्रा ने कहा है कि समाजवादी पार्टी के वोट बैंक के डीएनए में ऐसा है।
– पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा कि सीबीआई ने अमनमणि को गिरफ्तार करने में देर की।
– यूपी के मंत्री आजम खान ने कहा कि‍ इस मामले में कुछ नहीं कहूंगा।
9 जुलाई 2015 को हुई थी सारा की मौत
– सारा की मौत सिरसागंज में 9 जुलाई 2015 को हुई थी, जब वह अपने पति अमनमणि (पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी का बेटा) के साथ दोपहर में कार से लखनऊ से दिल्ली जा रही थी।
– अमनमणि ने सारा के घर वालों को बताया था कि उसकी मौत सड़क हादसे में हुई है, लेकिन गाड़ी चला रहे अमनमणि को खरोंच भी नहीं आई थी।
-इसके बाद दुर्घटना के हालात को देखते हुए सारा के परिवार वालों ने उसकी हत्या किए जाने की आशंका जताई थी।
– सारा की मां सीमा सिंह, बहन नीति और भाई सिद्धार्थ ने हत्या का आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की थी। बाद में राज्य सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।
– इसके बाद ही पुलिस ने अमनमणि को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।
– हालांकि, अमनमणि को हत्‍या नहीं, बल्कि एक किडनैपिंग मामले में गिरफ्तार किया था।
– बेटी को न्याय दिलाने के लिए सीमा सिंह ने काफी भागदौड़ की। मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ।
अक्टूबर 2015 में सीबीआई जांच शुरू
– नतीजा रहा कि अक्टूबर 2015 में ही प्रदेश सरकार की सिफारिश पर सीबीआई ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।
– सीबीआई ने दो महीने में कई लोगों के बयान लिए। फोरेंसिक रिपोर्ट का पूरा अध्ययन किया, फिर जेल में बंद रहे अमनमणि से पूछताछ की। लेकिन, उसके बाद रफ्तार सुस्त पड़ गई।
– वहीं, जनवरी 2016 में कोर्ट ने अमनमणि को बेल दे दी।
अमनमणि पर ये भी थे आरोप?
– आरोप है कि 07 अगस्त 2014 को अमनमणि त्रिपाठी ने गोरखपुर के रहने वाले ठेकेदार ऋषि पांडेय को अगवाकर पीटा।
– एक लाख रुपए की रंगदारी मांगी।