महिलाओं को प्यार करने के लिए मजबूर नहीं कर सकते: SC

16
SHARE

एक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा आखिर देश में महिलाओं को शांति से रहने क्यों नहीं दिया जाता? जस्टिस दीपक मिश्रा ने एक शख्स की पिटीशन पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की।

हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट ने शख्स को 7 साल जेल की सजा सुनाई थी। शख्स पर एक 16 साल की लड़की के साथ छेड़खानी करने और उसे आत्महत्या जैसा कदम उठाने के लिए मजबूर करने का आरोप है। जुलाई 2008 में धमकी और छेड़छाड़ से तंग आकर लड़की ने खुद को आग लगा थी हॉस्पिटल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। हिमाचल हाई कोर्ट ने आरोपी को दोषी करार दिया और उसे 7 साल जेल की सजा सुनाई।

बेंच ने कहा महिला को किसी से प्यार करने के लिए कोई मजबूर नहीं कर सकता, महिला के पास ये च्वाइस है कि वो किसी शख्स को प्यार करे या ना करे, प्यार का यही कॉन्सेप्ट है और पुरुषों को इसे मानना चाहिए, महिलाओं को देश में शांति से रहने दिया जाए।