पहली शतकीय पारी ही तिहरे शतक के रूप में लगाकर गैरी सोबर्स के बराबर आए करुण नायर

12
SHARE

नवोदित करुण नायर ने सोमवार को इतिहास रच दिया| उन्‍होंने इंग्‍लैंड के खिलाफ अपना पहला टेस्‍ट शतक ही तिहरे शतक के रूप में बनाकर वेस्‍टइंडीज के महान बल्‍लेबाज सर गैरी सोबर्स के रिकॉर्ड की बराबरी की| सोबर्स ने भी अपनी पहली शतकीय पारी, तिहरे शतक के रूप में बनाई थी| उन्‍होंने यह कारनामा 21 वर्ष की उम्र में फरवरी 1958 में पाकिस्‍तान के खिलाफ (365* रन, किंगस्‍टन) बनाया था|

300 के आंकड़े पर पहुंचने के पहले करुण नायर ने दोहरे शतक पर पहुंचते ही एक और रिकॉर्ड की बराबरी कर ली| उन्‍होंने इस दौरान अपना पहला शतक ही दोहरे शतक के रूप में बनाने के दिलीप सरदेसाई और विनोद कांबली के रिकॉर्ड की बराबरी की| दिलीप सरदेसाई (200*) ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ वर्ष 1965 में और विनोद कांबली (224) ने 1993 में इंग्‍लैंड के खिलाफ यह उपलब्धि हासिल की थी|

तिहरा शतक जमाने वाले दूसरे भारतीय
करुण ने सोमवार को तिहरा शतक बनाने वाले दूसरे भारतीय क्रिकेटर बनने का गौरव हासिल किया| उनसे पहले वीरेंद्र सहवाग टेस्‍ट क्रिकेट में दो बार तिहरे शतक बना चुके हैं| सहवाग ने पाकिस्‍तान के खिलाफ मुल्‍तान में (309रन, वर्ष 2004) और द. अफ्रीका के खिलाफ (319 रन, वर्ष 2008) चेन्‍नई में यह कारनामा किया था| मजे की बात यह है कि वीरू ने भी चेन्‍नई में भी एक तिहरा शतक जमाया था| इसके साथ ही करुण नायर विश्‍व क्रिकेट में तिहरा शतक बनाने वाले 30वें बल्‍लेबाज बने|