बुरहान ने सईद से मिलकर रची थी साजिश

7
SHARE

हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी ने एनकाउंटर से पहले जमात उद दावा और लश्कर ए तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद से बात की थी। इस दौरान उसने लश्कर से मिलकर भारत को बर्बाद करने की योजनाओं पर मिलकर काम करने की अपील की थी। सईद से हुई बातचीत में वह कहता है कि हम अपने मकसद में कामयाब हो रहे हैं। भारतीय फौज को करारा जवाब भी दे रहे हैं।इस बातचीत को खुफिया एजेंसियों ने इंटरसेप्ट किया है। इसमें वानी ने जंगल से पाकिस्तान में बैठे सईद से बात की थी।

जम्मू कश्मीर में आतंकियों का पोस्टर ब्वॉय बना बुरहान वानी को इस वर्ष जुलाई में सुरक्षाबलों ने एक मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था। उसकी मौत के बाद राज्य में लगातार प्रदर्शन और हिंसा का दौर चला था। इस ऑडियो टेप में वानी सईद से लश्कर द्वारा अधिक से अधिक सपोर्ट करने के लिए गुजारिश करता हुआ सुनाई दे रहा है। उसका कहना है कि लश्कर हथियार, पैसे और गोला बारुद के जरिए कश्मीर में उनकी ज्यादा से ज्यादा मदद कर सकता है। हालांकि चैनल ने इस ऑडियो टेप के सही होने की कोई पुष्टि नहीं की है।

चैनल के मुताबिक वानी ने यह फोन पीर साहिब से किया था जबकि सईद पाकिस्तान में मौजूद था। इस बातचीत के दौरान सईद ने वानी को कहा कि आप और आपके लोग वहां पर काफी परेशानियों में जी रहेे हैं। लेकिन आप चिंता न करें। आपको जो कुछ चाहिए हमें बताएं, हम कुछ भी करने के लिए तैयार हैं। आप केवल हमें बताएं। इस बातचीत के दौरान वानी कह रहा है कि उन्होंंने अपने दुश्मनों को लगभग पूरी तरह से मात दे दी है और इस जीत को वह कायम किए हुए हैं।इस बातचीत में वह कहता हुआ सुनाई देे रह है कि हम हमला करने का यह मौका खोना नहीं चाहते हैं। लेकिन इसके लिए हमें गोला बारुद की जरूरत है और इसके साथ ही पीछे से सपोर्ट की भी जरूरत है। हम एक साथ काम करना चाहते हैं।