बुंदेलखंड में होगा 20,000 करोड़ का निवेश: सीएम

45
SHARE

आज रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण बुंदेलखंड के बड़े विकास की नींव डालने झांसी में थीं। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र के साथ राज्य सरकार बुंदेलखंड में बीस हजार करोड़ का निवेश करने की बात कही।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज झांसी में दो दर्जन से भी अधिक परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। उन्होंने रक्षा मंत्री के साथ बैठक करने के साथ बुंदेलखंड को बड़े तोहफे दिये। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुंदेलखंड को डिफेंस कॉरिडोर व मेगा फूड प्रोसेसिंग प्लांट की सौगात देने के साथ कई परियोजना शिलान्यास और लोकार्पण भी किया। उन्होंने स्कूल चलो अभियान के तहत छात्र-छात्रों में ड्रेस वितरण करने के साथ स्वच्छ भारत मिशन की शपथ भी दिलाई। क्राफ्ट मेला मैदान में उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन की शपथ दिलाई। इसके साथ में स्वच्छता ग्रहणियों व ग्राम प्रधानों का सम्मान किया। इस दौरान झांसी की सांसद तथा केंद्रीय मंत्री उमा भारती भी मौजूद थीं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुंदेलखंड में 20 हजार करोड़ का निवेश होगा। डिफेंस कॉरिडोर की योजना से बुंदेलखंड के तहत युवाओं को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा। इससे अपने घर पर ही रहकर के अपने परिवार का अच्छे से पालन पोषण कर सकेंगे। हर व्यक्ति को घर देने का माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संकल्प पूरा किया जा रहा है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि झांसी में अब तक 6472 व्यक्तियों को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) तथा 2601 व्यक्तियों को प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत आवास प्रदान किए जा चुके हैं। दो महीने पहले इन्वेस्टर्स समिट में हुए 55 हजार करोड़ रुपये के एमओयू को सरकार इसी महीने क्रियान्वित करने जा रही है। बुंदेलखंड में रोजगार के साधन उत्पन्न कराने व विकास के एजेंडे को लेकर डिफेंस कॉरिडोर की महत्वपूर्ण बैठक भी संपन्न हुई है। अब इसके सार्थक परिणाम जल्द ही देखने को मिलेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार बुंदेलखंड से जुड़ी समस्याओं का समाधान करने के साथ ही विकास की योजनाओं को शुरू करने का संकल्प पूरा कर रही है। झांसी के 48 हजार किसानों के कर्ज माफ किए गए। कर्ज माफी के लिए 272 करोड़ रुपये झांसी जनपद को उपलब्ध कराए। अब हमें किसानों की आय को दोगुना करने के संकल्प को आगे बढ़ाना है तो फूड प्रोसेसिंग यूनिट को लगाना आवश्यक है। सरकार इस दिशा में आगे बढ़ रही है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर काम तो शुरू होगा ही, रेल कारखाना भी स्थापित होगा। जल्द ही रेल मंत्री कारखाने का शिलान्यास करेंगे। हम पूर्वांचल व बुंदेलखंड को एक्सप्रेस-वे देने के साथ ही औद्योगिक कॉरिडोर बनाकर युवाओं को रोजगार प्रदान करेंगे। पहली बार उत्तर प्रदेश के अंदर 4 लाख 68 हजार करोड़ रुपये के निवेश के प्रस्ताव पारित हुए। एमओयू के धरातल पर उतरने पर 33 लाख युवाओं के लिए रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।