बसपा आज काला दिवस माना रही है, ईवीएम से ‘छेड़छाड’ का मामला

21
SHARE

अपनी हार के लिए ईवीएम को जिम्मेदार बताने वाली बहुजन समाज पार्टी आज ईवीएम से ‘छेड़छाड़’ के मामले में पर देशव्यापी काला दिवस मनाएगी| बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ईवीएम को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी जा चुकी है, साथ ही मायावती ने इस मामले को राज्यसभा में भी उठाया था।

आज पार्टी प्रदेश के साथ ही देश के हर राज्य में इस कथित धोखाधड़ी के विरोध में काला दिवस मना रही है। आज हर जगह पर विरोध-प्रदर्शन के दौरान बसपा कार्यकर्ता मतपत्रों से चुनाव कराने की मांग रखेंगे। चुनावों में हार के बाद ही मायावती ने कहा था कि 11 मार्च को लोकतंत्र की हत्या की गई है। लिहाजा उन्होंने हर महीने की 11 तारीख को काला दिवस के रूप में मनाने की योजना तैयार कर ली थी। मायावती के इस ऐलान पर देश भर के प्रदेश मुख्यालय व जिला मुख्यालय पर विरोध-प्रदर्शन के जरिए ईवीएम की जगह मतपत्रों से चुनाव कराने की मांग की जाएगी।

मायावती ने बीजेपी को मिली जीत को ईवीएम से छेड़छाड़ का नतीजा बताया है। उनका कहना है कि ईवीएम को सेट किया गया, जिससे जो भी वोट उनका था वह बीजेपी को चला गया। यह पहली बार होगा जब बसपा किसी मुद्दे को लेकर सड़कों पर उतरेगी। पॉलिटिकल एक्सपर्ट्स के मुताबिक चुनावों में मिली हार के बाद यह विरोध प्रदर्शन पार्टी को एकजुट रखने की कवायद का एक हिस्सा भी है।

बसपा प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर ने बताया कि सभी जिलाध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने कार्यकर्ताओं के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पर सुबह 11 बजे से चार घंटे तक धरने पर बैठें।