भारत में ब्राह्मण भी खाते थे बीफ: कर्नाटक के BJP नेता

91
SHARE

कर्नाटक के बीजेपी नेता वामन आचार्य ने एक कन्नड़ टीवी न्यूज चैनल पर चर्चा के दौरान कहा कि कृषि प्रधान देश बनने से पहले भारत के ब्राह्मण भी बीफ खाया करते थे। अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक बयान पर विवाद बढ़ने पर उन्होंने इससे किनारा कर लिया। कर्नाटक बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं सीटी रवि और गो मधुसूदन ने आचार्य के बयान की निंदा की है।

कृषि प्रधान देश बनने से पहले भारत में बीफ सहित कई पशुओं का मांस खाया जाता था। ऐसे कई उदाहरण हैं जिनसे पता चलता है कि ब्राह्मणों सहित कई समुदाय के लोग गाय का मांस भी खाते थे। वामन में यह बयान स्लॉटर हाउस के लिए पालतू पशुओं की खरीद-फरोख्त की बिक्री पर लगी रोक पर चर्चा के दौरान दिया था। उन्होंने कहा था कि आज भी भारत के उत्तर पूर्वी राज्यों में गाय का मांस खाया जाता है।

बयान पर विवाद बढ़ने पर आचार्य ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत करते हुए कहा कि, मैं इस मुद्दे पर किसी प्रकार का विवाद नहीं चाहता हूं, इसलिए अपनी बात वापस ले रहा हूं। मैं चाहता हूं कि इस मामले को तूल न दिया जाए और यहीं खत्म कर दिया जाए। मैं नही चाहता हूं कि मेरे वजह से मेरी पार्टी को किसी भी प्रकार की मुसीबत या नुकसाल उठाना पड़े।