संसद के दोनों सदन हुए ठप्प, ‘रेनकोट’ टिप्पणी से कांग्रेस आहत

8
SHARE

गुरुवार को राज्यसभा में सदन शुरू होते ही हंगामा होने से कार्रवाई 12 बजे तक स्‍थगित कर दी गई।उधर लोकसभा की कार्रवाई आधे घंटे के बाद फिर शुरू हो गई। इस बीच लोकसभा में भी रुक-रुककर हंगामा होता रहा।

इसके पहले सदन में विपक्षी पार्टियों ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राज्यसभा में दिए गए भाषण का विरोध कर रहा था। विपक्षी पार्टियों के नेताओं का कहना था कि बजट सत्र में प्रधानमंत्री का जिस तरह का अभिभाषण हुआ वह निंदनीय है|

इसके बाद सदन में हंगामा शुरू हो गया। सत्ता और विपक्ष दोनों के ही सांसद वेल में आ गए। पूरा संसद प्रधानमंत्री माफी मांगे के नारों से गूंज उठा|

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी से कांग्रेस नाराज है। राज्यसभा में पीएम ने मनमोहन सिंह को लेकर शॉवर और रेनकोट वाली बात कही थी। इसी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने ये फैसला लिया है|

सांसद कपिल सिब्बल ने कहा कि, जब तक पीएम माफी नहीं मांगते, हम उनको सदन में बोलने नहीं देंगे। पीएम की टिप्पणी के बाद मनमोहन सिंह राज्यसभा के गलियारे में मीडिया से कहा कि, मुझे इस पर कुछ नहीं बोलना। मनमोहन की इस चुप्पी का ही असर था कि, आनन फानन में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया और राहुल को मामले की जानकारी दी। ऐसे में सोनिया और राहुल से चर्चा के बाद कांग्रेस ने तय किया कि मामले को यहीं नहीं छोडे़ंगे|

पार्टी ने तय किया कि, जब तक पीएम माफ़ी नहीं मांगते, वो संसद के दोनों सदनों में पीएम का बहिष्कार करेगी। जैसे ही पीएम लोकसभा या राज्यसभा में आएंगे तो कांग्रेस सांसद नारेबाजी करते हुए सदन ने बाहर निकल जाएंगे। कल संसद का ये सत्र खत्म हो रहा है, लेकिन कांग्रेस का कहना है कि, कल ही नहीं बल्कि आने वाले सत्रों में भी उनका बहिष्कार जारी रहेगा|