भाजपा की दूसरी लिस्ट में 155 नामों की घोषणा

11
SHARE

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अपने उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी कर दी है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की मौजूदगी में 155 नामों का एलान किया गया। भाजपा की दूसरी लिस्ट में साहिबाबाद से सुनील शर्मा और नोएडा से केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को उम्मीदवार बनाया गया है|

अमेठी से संजय सिंह की पत्नी गरिमा को टिकट मिला है। वहीं लखनऊ कैंट से रीता बहुगुणा जोशी को उम्मीदवार बनाया गया है। इलाहाबाद पश्चिम से सिद्धार्थनाथ सिंह कमल के निशान से चुनाव लड़ेंगे और कैराना सीट से सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को भाजपा ने मैदान में उतारा है|

केशव प्रसाद मौर्य ने इस मौके पर समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सपा के राज में विकास की रफ्तार थम गई और गुंडागर्दी बढ़ी। छात्रों और युवाओं से किए गए वादे पूरे नहीं हुए। मौर्य ने कहा कि प्रदेश में बहन-बेटियों की सुरक्षा खतरे में रही। लोगों की जमीन पर कब्जा किया गया। कानून व्यवस्था पूरी तरह ठप है। स्वास्थ्य सेवा बदहाल है। उन्होंने कहा कि जनता अखिलेश यादव के घोषणापत्र के धोखे में आने वाली नहीं है|

उत्तर प्रदेश में 11 फरवरी से 8 मार्च के बीच सात चरणों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन बन चुका है। अब सूूबे में सियासी लड़ाई और घमासान हो गई है। बसपा ने भी विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी पूरी कर ली है|

यूपी विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। सीएम चेहरे को सामने न लाकर एक बार फिर भाजपा ने पीएम मोदी के चेहरे पर दांव खेला है। इसका कितना फायदा चुनावों में मिलेगा यह 11 मार्च को सामने आ जाएगा|

इस बार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के अलावा प्रदेश की कानून व्यवस्था, सर्जिकल स्ट्राइक, नोटबंदी और विकास का मुद्दा प्रमुख रहने वाला है। भाजपा और बसपा प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर अखिलेश सरकार को घेर रही है, वहीँ विपक्ष नोटबंदी के फैसले को भी चुनावी मुद्दा बना रहा है|

 

यूपी विधानसभा में कुल 403 सीटें हैं। 2012 के विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी ने 224 सीट जीतकर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई थी। पिछले चुनावों में बसपा को 80, बीजेपी को 47, कांग्रेस को 28, रालोद को 9 और अन्य को 24 सीटें मिलीं थीं|