BJP-RSS को नहीं पसंद था अंबेडकर का संविधान: मायावती

79
SHARE
मंगलवार को बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के 61वें परिनिर्वाण दिवस पर बसपा चीफ मायावती ने कहा, ‘धर्मनिरपेक्षता की बुनियाद पर देश का संविधान बनाने वाले बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के प्रति गंदी मानसिकता की वजह से ही बीजेपी और आरएसएस ने अयोध्या में विवादित ढांचा गिराने के लिए 6 दिसंबर का दिन चुना। इसकी वजह थी कि बाबा साहब ने धर्मनिरपेक्षता के आधार पर संविधान बनाया था, जो इन ताकतों को पसंद नहीं था।’ मायावती ने आरोप लगाया, ‘बीजेपी और संघ के लोग यह कतई नहीं चाहते कि हिंदुओं को छोड़कर दूसरे धर्मों को मानने वाले लोग मान-सम्मान की जिंदगी जिएं।’
मायावती ने आगे कहा, ‘ओबीसी वोटों के लिए नरेंद्र मोदी ने अपना चाेला बदल लिया। ये अपर कास्‍ट का आदमी था।मोदी ने ओबीसी वर्गों के साथ छलावा किया है। दलित और अल्‍पसंख्‍यक वर्ग के लोगों को विरोधी पार्टियों से बचकर रहना जरूरी है।देश में बीजेपी और आरएसएस के लोग नहीं चाहते हैं कि हिंदुओं के अलावा बाकी धर्म के लोग प्‍यार और सम्‍मान से रहें।मोदी ने उच्‍च लोगों के लिए दलितों का शोषण किया। बीजेपी एंड कंपनी के लोग बाबा साहब के नाम पर भले ही कितने पार्क और स्‍मारक बनवाते रहें, दलितों के यहां खाना खाते रहें, दलित लोग बीजेपी के बहकावे में आने वाले नहीं हैं।मोदी तो अभी फकीर नहीं, लेकिन देश की लगभग 90 फीसदी जनता को कंगाल और फकीर बनाकर रख दिया है।सभी विरोधी पार्टियां अभी भी पिछड़ों को रिजर्वेशन नहीं देना चाहती हैं, जबकि हमने अपनी सरकार में इसके लिए केंद्र को लेटर लिखा|’
बसपा चीफ ने कहा, ‘अपने देश में दलित, अादिवासी, पिछड़े लोगों, अल्‍पसंख्‍यकों को बहुत संघर्ष करना पड़ा है।ये लोग सु‍रक्षित रहें, इसके लिए बाबा साहब ने धर्मनिरपेक्षता के आधार पर संविधान का निर्माण किया। अगर ये लोग सुरक्षित हैं, तो उसकी वजह बाबा साहब ही हैं।बीजेपी और आरएसएस के लोग संविधान बदलना चाहते हैं। आप लोगों को इनसे सावधान रहने की जरूरत है।’आजादी के बाद यूपी में लंबे अरसे तक कांग्रेस रही, लेकिन मैं पूछना चाहती हूं कि जो अधिकार संविधान में बाबा साहब ने आपको दिया है, क्‍या वो आपको मिला।बसपा सरकार ने अपने चारों हुकुमतों में आप लोगों को पूरा सम्‍मान दिया है।शोषणकर्ता लोग आपको हमेशा बांटने में लगे रहते हैं, ताकि आपके हाथ में सत्‍ता की मास्‍टर की न आ सके।दलितों और पिछड़ों की अाबादी ज्‍यादा है। विरोधी लोग कहते रहते हैं कि बाबा साहब ने इन्‍हीं लोगों का ध्‍यान रखा। ये कहकर वो गुमराह करते हैं।कांग्रेस ने एससी/एसटी वर्गों के लोगों के लिए सरकारी नौकरियों में कभी आरक्षण का कोटा पूरा नहीं किया।बसपा ने पार्लियामेंट में कड़ा संघर्ष किया। कांग्रेस के चलते देश में ओबीसी वर्गों की मंडल कमीशन की रिपोर्ट लागू नहीं हो सकती है।कांग्रेस के चलते बाबा साहब को भारत रत्‍न से सम्‍मानित नहीं किया गया|
मायावती ने आगे कहा, ‘सपा परिवार ने अार्थिक, राजनीतिक क्षेत्र में जो जगह बनाई है, वो भीमराव अंबेडकर की वजह से है। ये लोग एहसानफरामोश लोग हैं।महापुरुषों, गुरुओं के बारे ये लोग बेहूदी बातें करते रहते हैं। सपा मुखिया आए दिन कहता है कि जो पार्कों में पत्‍थर लगे हैं, वो गलत हैं।वो कहता है जो पत्‍थर खड़े हैं, वो वहीं के वहीं खड़े हैं। क्‍या जनेश्‍वर मिश्र पार्क में मूर्तियां नहीं खड़ी हैं? बबुआ को एेसी बातें करने से पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए।सपा सरकार का मुखिया अंबेडकर की छुट्टी कभी रद्द कर देता है, कभी लागू कर देता है। इससे पता चलता है कि सपा सरकार का मुखिया वास्‍तव में बबुआ है।वो अपने छोटेे-छोटे से प्रोग्रामों हाथियों का गुणगान करता है। ये हाथी उसे सपनों में भी परेशान करता होगा।जो पार्क हमने बनाए है, जिसे अखिलेश सरकार फिजूलखर्ची बताती है, उसे देखने के लिए देशभर से लोग आते हैं।सपा सरकार अपने मनोरंजन के लिए केवल अपने गृह जनपद में प्रोग्राम कराती है। उससे कोई आय भी नहीं होती है। इस पर उनके नेता बोलने से कतराते हैं|’
मायावती ने रैली को एड्रेस करते हुए कहा, ‘कांग्रेस के चलते मुस्लिम लोग उपेक्षित रहे हैं। कांग्रेस के साथ-साथ इन वर्गों के मामले में बीजेपी और उनकी सहयोगी पार्टियों के बारे में भी हमारा यही मानना रहा है कि इनके चाल, चरित्र और नियत इन वर्गों के लिए विरोधी रहा है।ढाई साल के कार्यकाल में बीजेपी ने अपने वादे का एक चौथाई काम भी नहीं किया है। इन्‍होंने बिना तैयारी के 500 और 1000 के नोटबैन का फैसला ले लिया।लोगों की आंखों में धूल झोंकने के लिए अब बीजेपी के लोग सांसदों की अकाउंट डिटेल्‍स मांग रहे हैं। मोदी की तानाशाही और उनके षड्यंत्रों से बचने की जरूरत है।लखनऊ-आगरा एक्‍सप्रेस-वे बसपा की ही देन है, लेकिन सपा उसे अपना बताती है। यूपी की जनता दुखी और निराश है। हमारी सरकार आने पर कानून का राज कायम किया जाएगा।वर्तमान सपा सरकार में जिन पीड़‍ित लोगों की एफआईआर दर्ज नहीं की गई है, उनकी एफआईआर दर्ज की जाएगी और दोषियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी।भू-माफियाओं के खिलाफ सख्‍त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अखिलेश सरकार ने जो आर्थिक फैसले लिए हैं, हमारी सरकार बनने पर उसकी भी जांच की जाएगी। एड में खर्च की गई धनराशि की भी जांच कराई जाएगी|’