तेरी FIR कराकर जेल भिजवा दूंगा, कल दूसरे लेखाधिकारी का चार्ज होगा: मुजफ्फरनगर में BJP MLA की सरकारी कर्मचारी को धमकी

338
SHARE

मुजफ्फरनगर में बीजेपी एमएलए उमेश मलिक ने शिक्षा विभाग के कर्मचारी को जेल भेजने की धमकी दी। बीजेपी विधायक ने ये धमकी सातवें वेतन आयोग की मांग को लेकर बीएसए कार्यालय पर धरना दे रहे शि‍क्षकों के सामने दी। उन्होंने कर्मचारी को धमकी देते हुए कहा- ”आज के बाद इतनी बड़ी गलती की तो तेरी एफआईआर कराकर तुझे जेल में भिजवा दूंगा।”

शुक्रवार को मुजफ्फरनगर के बीएसए कार्यालय पर सातवें वेतन आयोग की मांग को लेकर शि‍क्षक धरना दे रहे थे। शिक्षकों को समझाने पहुंचे बुढ़ाना से विधायक उमेश मलिक को सरकारी कर्मचारी द्वारा शासनादेश का हवाला देने पर इतना गुस्सा आया की उसे जेल भि‍जवाने की धमकी दे दी।

विधायक उमेश मलिक ने बीएसए कार्यालय पर तैनात लेखाअधिकारी रजनीश को चेतावनी देते हुए कहा- ”आज के बाद इतनी बड़ी गलती की तो तेरी एफआईआर कराकर तुझे जेल भिजवा दूंगा। एक शासन के प्रतिनिधि और बीएसए के सामने तू शासनादेश का हवाला देगा। शासनादेश करने वाले कौन हैं? कल तू इस दफ्तर में नहीं बैठेगा, याद रखना। सबसे बड़ी गलती की है तून आज बीच में आकर। अध्यापक हैं ये, समाज चलाते हैं, उनके साथ तू-तड़ाक करेगा तू। कल इस ऑफिस पर दूसरे लेखाधिकारी का चार्ज होगा।”

बीजेपी विधायक उमेश मलिक ने इस मामले पर कहा- ”वेतन न मिलने पर कुछ शिक्षकों का आरोप था की शिक्षा विभाग का एक बाबू रिश्वत की मांग कर रहा है। जिस पर मैं शिक्षकों को समझाने आया था। मेरे कहने पर सभी शिक्षकों ने धरना समाप्त कर दिया था। ये बाबू पिछली सरकार के समय से यहां दलाली कर शिक्षकों का उत्पीड़न कर रहा था। इस लिए इसको समझाया गया है। एक अधिकारी की तरह धरने के बीच में एक सरकार के प्रतिनिधि और बेसिक शिक्षा अधिकारी के सामने उसने ये कहा है की मुझे मौखिक शासन आदेश हुआ है। जबकि कोई मौखिक शासन आदेश नहीं होता है। इस प्रकार की झूठी बात करना गलत है।”