यूपी में अब तक भाजपा 227 सीटों पर जीती, पंजाब में कांग्रेस की जीत पर PM ने बधाई दी

15
SHARE

मौजूदा विधानसभा चुनावों में भाजपा के शानदार प्रदर्शन ने विरोधियों को हैरत में डाल दिया है। सफलता का आलम ऐसा है‌ कि यूपी और उत्तराखड में तो मोदी लहर राम लहर से भी बड़ी होती दिख रही है। इतनी बड़ी सफलता की उम्‍मीद तो खुद भाजपा नेताओं ने भी नहीं की होगी, लेकिन राजनीति में कब क्या चमत्कार हो जाए कोई नहीं कह सकता।

उत्तर प्रदेश में भाजपा गठबंधन 300 सीटों को पार करता दिख रहा है तो उत्तराखंड में भी पार्टी को दो तिहाई सीटें मिलती दिख रही हैं। गोवा में जहां पार्टी सत्ता में वापसी की ओर है तो उत्तर पूर्व के राज्य मणिपुर में कांग्रेस को कड़ी टक्कर दी है। हालांकि पंजाब के नतीजे पार्टी के मनमुताबिक नहीं रहे, लेकिन ये पार्टी के लिए बड़ी टेंशन भी नहीं है, क्योंकि यहां वह कभी भी मुख्य मुकाबले में नहीं रही।

खास बात ये है कि इस शानदार प्रदर्शन के बाद भाजपा को नोटबंदी के जिन्न से पीछा छुड़ाने में भी मदद मिलेगी। वहीं विपक्षी दलों के लिए ये नतीजे चिंतन वाले साबित हुए हैं। यूपी की जनता ने जहां अखिलेश राहुल के साथ को पूरी तरह नकार दिया है, वहीं बसपा के तो वजूद पर ही सवाल खड़ा कर दिया है।

गोवा में भाजपा और कांग्रेस के बीच कशमकश जारी है तो उत्तर पूर्व के राज्य मणिपुर में भाजपा ने दमदार उपस्थिति दर्ज कराई है। खास बात ये है कि इन चुनावों के परिणाम देश का राजनीतिक परिदृश्य बदलने वाले भी साबित होंगे, जिसके बाद भाजपा राज्यसभा में भी मजबूत होगी और राज्यों में भी। जिससे उसे जीएसटी और अन्य बड़े फैसले लागू करवाने में भी आसानी होगी।
बीजेपी नेता श्रीकांत शर्मा ने कहा- ये बदलाव की बयार है। लोगों का सपा, बसपा और कांग्रेस की हकीकत पता चल गई है।

शिवपाल यादव जसवंतनगर से जीते, कहा- अपनी जीत के लिए मैं जसवंतनगर के लोगों का धन्यवाद करता हूं। बाकी हम जनादेश को स्वीकार करते हैं।

हार के बाद मायावती का आरोप- चुनाव में धांधली, बीजेपी ने EVM को मैनेज किया
मायावती ने बीजेपी को खुली चुनौती देते हुए कहा कि पीएम मोदी और अमित शाह में थोड़ी सी भी ईमानदारी है, तो बैलट पेपर पर चुनाव कराएं। दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। बीजेपी ने लोकतंत्र की हत्या की है। उन्होंने कहा कि ईवीएम में छेड़छाड़ की गई।