एक्शन में भाजपा: UP में 87 नेताओं को पार्टी से बाहर निकला

12
SHARE

भारतीय जनता पार्टी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल 87 पदाधिकारियों को भाजपा से निष्कासित कर दिया है। इन पदाधिकारियों पर यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी से बगावत और प्रत्याशियों के खिलाफ भितरघात करने का आरोप है। निकाले गए नेताओं में पूर्व विधायक, पूर्व पालिका अध्यक्ष समेत कई पदाधिकारी शामिल हैं।

भाजपा से निष्कासित पदाधिकारियों पर कार्रवाई की याद भाजपा को बहुत देर से आई है। इनमें से दर्जनों नेता निर्दलीय या फिर दूसरे दलों से चुनाव लड़ चुके हैं। अनुशासन समिति की सिफारिश के आधार पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को 87 ऐसे पदाधिकारियों को पार्टी से निष्कासित कर दिया। प्रदेश महामंत्री व मुख्यालय प्रभारी विद्यासागर सोनकर ने बताया कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के दौरान कई भाजपा कार्यकर्ताओं ने पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ बगावत कर या निर्दलीय चुनाव लड़ा था। इनमें से कुछ ने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ प्रचार किया था।
इन्हें किया बाहर
लखनऊ महानगर से मनोज गुप्ता, गोंडा से प्रतिभा सिंह, महेश नारायण तिवारी, निर्मल श्रीवास्तव, वैभव पांडेय, विद्याभूषण द्विवेदी, नीरज मौर्य, रामभजन चौबे, जसवंत लाल सोनकर, बलरामपुर से अंगद शरण गौतम, अनुराग यादव, राजेश्वर मिश्रा, सीतापुर से कमला रावत, श्याम लाल रावत, बाराबंकी से जंग बहादुर पटेल, रानी कनौजिया, नीलेंद्र बख्शदास, सुल्तानपुर से रेखा निषाद, श्रावस्ती से राम अभिलाख, विनोद त्रिपाठी और अंबेडकरनगर से छोटे पांडे शामिल हैं। गोंडा से महेश नारायण तिवारी शिवसेना और प्रतिभा सिंह निर्दलीय चुनाव लड़ी थीं।
Input Source: Patrika