देश में कैश की किल्लत बड़ी अंतरराष्ट्रीय साजिश: अखिलेश यादव

46
SHARE

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कैश की किल्लत पर कहा कि एटीएम में नोट न होना किसी बड़ी साजिश का संकेत है। यह आशंका भी जताई कि कहीं केंद्र के इशारे पर नोटों की जमाखोरी तो नहीं हो रही है? अगर नोटों की जमाखोरी हो रही है तो सरकार क्या कर रही है?

पार्टी मुख्यालय पर बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में अखिलेश ने कहा कि कैशलेस अर्थव्यवस्था की वकालत करने वाली केंद्र सरकार को यह बताना चाहिए कि नोट छपवाने का कागज विदेश से मंगाया जाता है। जब पर्याप्त संख्या में नोट छपे तो वह गायब कहां हो गए। यह अंतरराष्ट्रीय षड्यंत्र भी हो सकता है। पिछले साल नोटबंदी से किसानों और गरीबों का बहुत नुकसान हुआ। समाज का हर वर्ग इस फैसले से परेशान है। इसके बाद भी भाजपा इसे अपनी उपलब्धि बताती है। उन्होंने कहा कि लोगों की समस्याओं के प्रति केंद्र और प्रदेश की सरकार उदासीन है। कानून व्यवस्था लगातार लचर होती जा रही है। राज्यपाल को देखना चाहिए कि राज्य सरकार संविधान के अनुसार चल भी रही है या नहीं।