भारतरत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खां की चांदी की पांच शहनाई चोरी

102
SHARE

शनिवार को भारतरत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खां की पांच चांदी की शहनाई उनके बेटे काजिम हुसैन के चाहमामा-दालमंडी स्थित आवास से चोरी हो गई। इनमें उस्ताद की वह शहनाई भी शामिल है जिससे वह मोहर्रम की पांचवी और सातवीं तारीख पर आंसुओं का नजराना पेश करते थे। चोर पुरस्कार के रूप में मिली चांदी की कई तश्तरियां और लाखों रुपये के जेवरात भी उठा ले गये। इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने चौक थाने पहुंचे काजिम फूट-फूट कर रो पड़े। इस वाकये से प्रशासन में भी हड़कंप की स्थिति है।मूल रूप से हड़हा सराय के रहने वाले काजिम हुसैन ने बताया कि उनके पास ही ‘उस्ताद’ की धरोहर के रूप में पांचों शहनाई व अन्य सामान थे। हाल ही में उन्होंने दालमंडी स्थित चाहमामा मोहल्ले में नया मकान लिया है। इसी मकान में उस्ताद की धरोहर एक दीवान में रखी हुई थी|

काजिम ने बताया कि पूरे परिवार के साथ 30 नवम्बर को वह हड़हा सराय के पुराने मकान में गये थे। शनिवार रात करीब नौ बजे लौट कर आये तो घर की कुंडी टूटी हुई मिली। अंदर घर में सारा सामान बिखरा हुआ था। नाजिम ने बताया कि चोरों ने दीवान में रखी चांदी की शहनाई, घर की महिलाओं के जेवरात सहित लाखों रुपये का सामान साफ कर दिया। उन्होंने इस घटना की सूचना सपा एमएलसी शतरुद्र प्रकाश को दी। शतरुद्र ने एसएसपी नितिन तिवारी से मुकदमा दर्ज कराने को कहा। एसएसपी ने तत्काल चौक इंस्पेक्टर को कार्रवाई का निर्देश दिया|

नाजिम ने बताया कि चोर उस्ताद की खास शहनाई भी उठा ले गये। उसे वह सिर्फ मोहर्रम की पांचवीं और सातवीं तारीख को विशेष रूप से निकालते थे। इसी से वह आंसुओं का नजराना पेश करते थे। इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री स्व. पीवी नरसिंहा राव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल, लालूप्रसाद यादव और उस्ताद के शिष्य भागर्व वर्मा ने एक-एक शहनाई तोहफे में दी थी।नाजिम को जैसे ही इसका इल्म हुआ कि भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खां की धरोहर चोरी चली गई तो उनकी आंखों से आंसू बह चले। वह रो-रोकर चौक इंस्पेक्टर को घटना की पूरी जानकारी दे रहे थे। वहीं चौक इंस्पेक्टर देर रात पुलिस टीम के साथ चाहमामा स्थित मकान पर पहुंचे और पड़ताल शुरू की। मौके पर क्राइम ब्रांच और डागस्क्वायड भी बुला ली गई थी|