स्पीड ब्रेकर की वजह से भारत में रोजाना होती हैं 10 मौतेंः रिपोर्ट

80
SHARE

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें स्पीड ब्रेकर के कहर को दर्शाया गया है। इस रिपोर्ट के मुताबिक देश में स्पीड ब्रेकर से रोजाना 10 लोगों की मौत होती है। दरअसल, आकंड़ों के मुताबिक साल 2015 में 11 हजार लोगों सड़क हादसों से जान गई, इसमें 3409 मौतों का कारण स्पीड ब्रेकर बने|

इतना ही नहीं रोज के 30 हादसों में से 10 हादसों के पीछे स्पीड ब्रेकर होते हैं। आकंड़े देखे जाए तो स्पीड ब्रेकर की वजह से करीब 6073 मौतें साल 2015 में मध्य प्रदेश, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश में हुईं। वहीं अकेले यूपी, तमिलनाडु और कर्नाटक में इसी दौरान करीब 1794 मौते इसी वजह से हुईं। हालांकि, ये सच भी सामने आया है कि साल 2014 के मुकाबले 2015 में सड़क दुर्घटनाएं कम हुई हैं|