अलीगढ़ में रिटायर्ड आइएएस अधिकारी की पीएसी के जवान ने की पिटाई, नाक टूटी

182
SHARE

कल देर रात रिटायर्ड आइएएस अधिकारी तुलसी गौड़ को पीएसी के जवानों ने जमकर पीट दिया। जिसमे उनकी नाक टूट गई।

अस्पताल में भर्ती तुलसी गौड़ को हालचाल लेने अलीगढ़ के डीएम हृषिकेश भास्कर यशोद के साथ ही एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय भी पहुंचे थे। पीएसी के जवानों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई तो उन्होंने की तुलसी गौड़ के खिलाफ तहरीर दी है।

रामघाट रोड पर 38वीं वाहिनी पीएसी के गेट पर पीएसी जवानों से विवाद में सेवानिवृत्त आइएएस तुलसी गौड़ की नाक टूट गई। कल रात जिस वक्त यह घटना हुई, वह पत्नी के साथ एटीएम से कैश लेने पहुंचे थे। 1993 में अलीगढ़ डीएम रहे तुलसी गौड़ को दीनदयाल अस्पताल से जेएन मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। उनकी पिटाई की सूचना पर डीएम के साथ एसएसपी ने अस्पताल आकर उनका हाल-चाल लिया और दोषियों के खिलाफ रिपोर्ट कराने की बात कही। वहीं, आरोपों की जद में आया पीएसी कर्मी किशन मुरारी भी थाने में तहरीर देने पहुंच गया है।

आइएएस तुलसी गौड़ सेवानिवृत्ति के बाद शहर के क्वार्सी इलाके के रमेश विहार में रहते हैं। तुलसी गौड़ सात जुलाई 1993 से दस जुलाई 1994 तक अलीगढ़ के डीएम और एचडी देवगौड़ा समेत तीन प्रधानमंत्रियों के विशेष सचिव रहे। 2017 में शहर से सटी कोल विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव भी लड़े और करीब 1300 मत हासिल किए थे।

कल रात वह कार से पत्नी अदिति गौड़ के साथ एटीएम से रुपये निकालने गए थे। पत्नी अदिति गौड़ के मुताबिक पीएसी गेट पर एसबीआइ के एटीएम के पास गाड़ी खड़ी करते ही पीएसी गेट पर ड्यूटी दे रहे संतरी फुलवर सिंह ने बदसलूकी शुरू कर दी। इस बीच गेट पर ही ड्यूटी दे रहे दूसरे पीएसी कर्मी किशन मुरारी ने उनके पति की पिटाई शुरू कर दी। पत्नी ने एसएसपी को फोन किया तो क्वार्सी थाना पुलिस उन्हें दीनदयाल अस्पताल लेकर आई।

कुछ ही देर में डीएम हृषिकेश भास्कर यशोद व एसएसपी राजेश पांडेय भी हाल-चाल लेने पहुंच गए। डॉक्टरों ने गौड़ की नाक में फ्रैक्चर बताया है। डीएम का कहना है कि नाक से काफी खून बहने के कारण डॉक्टरों ने दीनदयाल अस्पताल से जेएन मेडिकल कॉलेज शिफ्ट करने की सलाह दी, जहां उन्हें शिफ्ट कराया जा रहा है। एसएसपी का कहना है कि तहरीर के आधार पर पीएसी कर्मियों के विरुद्ध रिपोर्ट होगी। उधर, पीएसी के कंपनी कमांडर दिनेश कुमार भी कृष्ण मुरारी को साथ लेकर रिपोर्ट दर्ज कराने क्वार्सी थाने पहुंच गए ।

38वीं वाहिनी पीएसी के असिस्टेंट कमांडेंट उमर दराज खां का कहना है, गेट पर कार खड़ी करने से मना करने पर तुलसी गौड़ ने ही पीएसी कर्मी को चांटा मारा था। तभी विवाद बढ़ा। एटीएम के सामने लगे सीसीटीवी के फुटेज निकलवा रहे हैं। उससे पता लगेगा कि मारपीट किसने शुरू की थी। इसके बाद ही कोई कार्रवाई तय करेंगे।