रामपुर में आजम खां-क्या योगी जी अब नमाज पढ़ेंगे?

18
SHARE

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूर्य नमस्कार और नमाज की क्रियाओं को एक जैसा बताने पर पूर्व मंत्री आजम खां ने रामपुर में कहा कि हमारी समझ में नहीं आ रहा, उनकी क्या मंशा है। अगर हम कहें क्या अब योगी जी नमाज पढ़ेंगे, तो जाने क्या हो जाएगा। आजम खां ने कहा कि अगर सूर्य नमस्कार और नमाज की क्रिया को हम एक जैसा बताते तो अब तक हमको हथकड़ी लग जाती, लेकिन योगी जी की तो हर बात निराली है।

कल उन्होंने कहा कि योगी जी जो कह रहे हैं, वह ठीक होगा। अगर वह नमाज भी पढ़ेंगे तो उन्हें कोई नहीं रोक सकता। आजम खां ने कहा कि हमारे और आपके सुनने में भी फर्क हो सकता है, क्योंकि इन बातों पर यकीन नहीं हो रहा। हमने जो कुछ उनके बारे में जाना और समझा है, वह बहुत डरा देने वाला है। अब जब लोकतंत्र में लोग भयभीत हो जाएंगे, तो समझ लो लोकतंत्र का क्या हाल है।

राष्ट्रपति पद के लिए चल रहे आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के नाम के सवाल पर कहा कि राष्ट्रपति वह होगा, जिसकी संख्या ज्यादा होगी। कोई भी हो सकते हैं, इन सारी चीजों का अब तो लोकतंत्र के नाम पर फासिस्ट लोग फायदा उठाएंगे।

अवैध पशु कटान के मामले पर भी आजम खां का दर्द छलक ही गया। आजम ने कहा कि कहा कि अगर मुसलमान सब्जी खा रहा है, तो इससे उसका मजहब नहीं जा रहा। शेर घास भी खाएगा। अगर उसको जीना होगा तो उसे गोश्त छोडऩा होगा। अब गोश्त न मिलने से उनकी मौतें हो रही हैं, तो इसका जिम्मेदार उनका मुकद्दर है।

उनसे पूछा गया कि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वंदे मातरम जरूरी नहीं तो आजम खां ने कहा कि क्या कह सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि चुनाव में धर्म और मजहब के नाम पर वोट न मांगा जाएं, लेकिन वह सब हुआ। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वही ईवीएम इस्तेमाल की जाए, जिससे रसीद निकलती हो, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।