प्रचार खत्म, अंतिम दौर के मतदान और परिणाम का इंतजार

13
SHARE

सोमवार को यूपी विधानसभा चुनाव के सातवें एवं अंतिम चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार का शोर थम गया। प्रचार के अंतिम दिन सभी पार्टियों के दिग्गज नेताओं ने अपनी पूरी ताकत झोंकी। पीएम नरेंद्र मोदी जहां वाराणसी में परिवर्तन संकल्प रैली की, वहीं सीएम अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने भी वाराणसी में अपनी ताकत दिखाई। मायावती ने भी अपनी जीत का दावा किया। फिलहाल सबकी नजरें 8 मार्च के मतदान और उसके बाद 11 मार्च के परिणामों पर टिक गई हैं|

यूं तो चुनावी शोर थम गया है लेकिन अब ‘साइलेंट वार’ शुरू हो गया है जो कि नतीजों के बाद ही थमेगा। जानिए अंतिम दिन सभी दिग्गजों ने कहां क्या किया।

पीएम मोदी ने क्या किया? 
पीएम मोदी का वाराणसी लगातार तीसरा दिन था। तीसरे दिन मोदी सबसे पहले गढ़वाघाट पहुंचे और गायों को चारा खिलाया। इसके बाद मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि दी और फिर रोहणिया में रैली को संबोधित किया। यहां मोदी ने बड़े-बड़े चुनावी वादे किए और कहा कि उनका सपना है कि 2022 तक हर गरीब के पास अपना घर हो। मोदी ने एक बार फिर किसानों की बात की और पहली किश्त में कर्ज माफी का वादा किया|

राहुल ने क्या किया ? 
प्रचार के अंतिम दिन राहुल ने भी दांवों में कोई कोर कसर नहींं छोड़ी। उन्होंने ओबामा की पत्नी को पीतल का पतीला थमाना चाहा तो मोदी के तीन दिन तक बनारस में डटे रहने को हार का डर बताया। राहुल ने कहा कि बनारस में मोदी जी की पिक्चर का बार-बार रीटेक हो रहा है। 4 बार रिटेल लिए मगर बात नहीं बन रही है। दो दिन पहले रोड शो हुआ उससे भी बात नहीं बनी ज सुन रहे हैं मोदी जी पैदल जा रहे हैं। राहुल ने ये भी कहा कि गायों को चारा खिलाने से मोदी जी की बात नहीं बनने वाली|

मायावती ने क्या किया ?
प्रचार के अंतिम दौर में मायावती ने भी ताल ठोंकी और प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सपा, भाजपा और कांग्रेस पर जमकर चुनावी तीर छोड़े। मायावती ने मोदी को नौटंकीबाज बताया तो अखिलेश पर भी चुटकी लेते हुए उसे ‘बबुआ’ कहने का राज बताया। इसके साथ ही मायावती ने एक बार फिर जीत का दावा किया और कहा कि यूपी में बसपा की सरकार बनने जा रही है|