एक ही मंच पर ‘आप’ के सदस्य बने दिव्यांग दलित नेता और उनके हाथ-पैर काटने वाला अपराधी

7
SHARE

एक बेहद अजीब घटनाक्रम में रविवार को पंजाब के मनसा में दिव्यांग दलित नेता बंत सिंह झब्बर और उनके हार पैर काटने के अपराध में जेल जा चुके नवदीप सिंह को एक साथ आम आदमी पार्टी में शामिल किया गया| हालांकि कुछ ही घंटे बाद नवदीप सिंह की सदस्यता रद्द कर दी गई| बता दें कि नवदीप पर बंत सिंह की बेटी के साथ हुए गैंग रेप में शामिल होने का आरोप भी है|

जनवरी, 2006 में ज़मींदार नवदीप सिंह ने बंत सिंह के दोनों हाथ और एक पैर काट डाला था, क्योंकि वह अपनी नाबालिग बेटी से हुए गैंगरेप के बाद इंसाफ के लिए लड़ाई लड़ रहे थे| इसी आरोप में सात साल कैद काट चुका नवदीप सिंह फिलहाल जमानत पर आज़ाद है| हाथ-पैर काट दिए जाने के बाद भी हार न मानकर लड़ाई जारी रखने के चलते बंत सिंह दलितों के नेता के रूप में मशहूर हो गए|

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, रविवार को मनसा में ‘आप’ के पंजाब प्रभारी संजय सिंह ने दोनों को पार्टी की सदस्यता प्रदान की| व्हीलचेयर पर मौजूद बंत सिंह मंच पर चढ़ नहीं सकते थे, इसलिए संजय सिंह ने मंच से उतरकर उन्हें सदस्यता दी|

समारोह के बाद बंत सिंह झब्बर ने नवदीप को भी सदस्यता दिए जाने के बारे में कहा कि उन्होंने यह नहीं सोचा था कि ऐसा दिन भी देखना पड़ सकता है| इस पर संजय सिंह ने मामले की जानकारी न होने की बात कही, और जांच का आश्वासन दिया| फिर कुछ घंटे बाद नवदीप की सदस्यता रद्द कर दी गई|