PM मोदी के गढ़ में केजरी की ललकार, जनता से कहलवाया रिश्वतखोर, “मोदी चोर है ” के नारे लगे

10
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले के 29 दिन बाद मोदी के गढ़ वाराणसी में बुधवार को आए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। शहर के बीचोबीच बेनियाबाग के राजनारायण पार्क में जनता से संबोधित केजरीवाल ने तकरीबन 45 मिनट के भाषण में मोदी पर तीखा हमला बोला। यहां तक कि प्रधानमंत्री पर रिश्वतखोर होने का आरोप लगाया और जनता से हुंकारी भी भरवाई। जनता के समक्ष रिश्वतखोरी के दस्तावेजों को दिखाते हुए पूछा आप बताओ पीएम क्या हैं, जनता ने जवाब दिया घूसखोर। अरविंद लगातार गरजते रहे और जनता वाहवाही करती रही। झूम-झूम कर जनता के केजरीवाल की बातों की तस्दीक की। केजरीवाल ने ऐसा समां बांधा कि जनता भी वाह-वाह करती रही।
बिड़ला और सहारा की ओर से रिश्वत देने के दस्तावेज दिखाए निर्धारित समय से करीब दो घंटे विलंब से अरविंद केजरीवाल ने पहले जनता से विलंब से आने के लिए माफी मांगी। फिर एक-एक कर मोदी पर हमला करना शुरू किया। आयकर के दस्तावेज दिखाने का दावा करते हुए कहा कि सबसे पहले 15 अक्टूबर 2013 को जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री रहे तब बिड़ला ग्रुप पर आयकर की रेड पड़ी तो जो रिकार्ड बरामद हुए उसके अनुसार गुजरात के सीएम पर 25 करोड़ देने की बात का जिक्र था उसमें. यह भी लिखा था कि 25 में से 12 करोड़ दे दिए गए शेष देना बाकी है। कहा भाई 2013 में तो गुजरात के सीएम मोदी जी ही थे। उस घटना के दो साल बीत गए पर मोदी जी ने जांच नहीं कराई। बल्कि यूं कहें कि जांच बंद करा दी। अगर मोदी जी सच्चे होते तो जांच कराते। मुझ पर तो तमामा आरोप लगाते हैं मैं तो छाती ठोंक के कहता हूं करा लो जांच। यह साबित करता है कि मोदी जी ने रिश्वत ली।

फिर कहा, 22 नवंबर 2014 को सहारा पर आयकर का छापा पड़ा तो एक कमरे में 130 करोड़ का कैश मिला। वहां से जो कागजात मिले उसे दिखाने का दावा करते हुए कहा कि वे दस्तावेज बताते हैं कि सहारा ग्रुप से 30 अक्टूबर 2013, 12 नवंबर 2013, 27 नवंबर, 29 नवंबर इस तरह कुल सात इंट्री पाई गई जिसमें 40 करोड़, 10 रुपये मोदी जी को बतौर रिश्वत दी गई। इसकी भी जांच नहीं कराई मोदी जी ने।

आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटालाकेजरीवाल ने कहा कि मुझे तो लगता है कि मोदी जी ने यूं ही माल्या को रातोरात देश से बाहर नहीं किया। उससे भी कुछ लिया होगा। उन्होंने पूछा मोदी जी बताएं और किस किस से रिश्वत ली। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी के जरिए आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला किया है।

कांग्रेस को दी सलाह, मोदी से सीखे कैसे लगाते हैं छक्केदिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, देश पर 70 साल राज करने वाले कांग्रेसियों ने तो टूजी और कोयला मामले में लाख दो लाख के घोटाले किए। उन्हें तो मोदी जी से सीखना चाहिए कैसे पलक झपकते छक्का मारा और आठ लाख करोड़ का घोटाला कर डाला।

देश को 20 साल पीछे कर दियाआप संयोजक ने कहा कि नरेंद्र मोदी को नोटबंदी के जरिए देश को 20 साल पीछे धकेल दिया है। अब 50-50 स्कीम लाए हैं। कहा है काला धन लाओ और करो सफेद। अरे ये काला धन चाहे आतंकवाद से आया हो या फिरौती से अथवा नशे का पैसा हो सब लाओ और सफेद करा लो।

बीजेपी पर लगाया भ्रष्टाचारी होने का आरोपउन्होंने कहा प्रधानमंत्री देश भर को भ्रष्टाचारी बताते हैं, सबको पीटीएम के उपयोग की सलाह देते हैं। अरे मोदी जी पहले भाजपा को समझाओ, उन्हें बताओ पीटीएम का उपयोग करें। बताया कि भाजपा को 70 फीसदी चंदा कैश आता है। आम आदमी पार्टी अकेली पार्टी है जिसका 92 फीसदी चंदा बैंकों के माध्य से आता है।

मां को लाइन में लगाता है राजनीति के लिए लानत हैअरविंद केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी की लानत मलानत करते हुए कहा कि क्या माता-पिता इसीलिए बच्चों को पालते हैं कि बुढ़ौती में वे उनका अपने फायदे के लिए उपयोग करें। मैं तो ऐसा कभी न करूं।

आम आदमी की बेटी की शादी ढाई लाख में, भाजपा नेताओं की बेटी की करोड़ों मेंआम आदमी की बेटी बेटी नहीं। उसकी शादी ढ़ाई लाख में हो और रेड्डी ब्रदर्स, महेश शर्मा, अरुण जेटली की बेटियों की शादी करोड़ों में क्यों।

सेवानिवृत्त आयकर कर्मचारी लगाए जा रहे घऱ-घर सोना तलाशने कोकहा कि मोदी जी ने सेवानिवृत्ति आयकर कर्मचारियों को ड्यूटी पर ला रहे हैं। ये आयकर कर्मचारी घर-घर जा कर माताओं-बहनों का सोना तलाशेंगे।

जनता से लिया वादाजनता से कहा वाराणसी और यूपी वालों के कारण मोदी प्रधानमंत्री बने। लेकिन अब आप की जिम्मेदारी है कि घर-घर जा कर नोटबंदी घोटाले का पर्दाफाश करो। बताओ नोटबंदी कालाधन, भ्रष्टाचार मिटाने के लिए नहीं अरबपति मित्रों को बचाने के लिए लाया गया है। भ्रष्टाचार रोकना था तो दो-चौर नेताओं को जेल भेजते। मोदी के पास एक फाइल है जिसमें 648 भ्रष्टाचारियों के नाम हैं। मोदी उन पर कार्रवाई क्यों नहीं करते। उन्हें जेल क्यों नहीं भेजते। दरअसल मोदी झूठे हैं उनकी स्कीम अडानी,अंबानी और माल्या जैसों के आठ लाख करोड़ के ऋण माफी के लिए लाई गई है नोटबंदी।