आर्मी चीफ राहील का रिटायर होना हैरान करने वाला हैः पाकिस्तानी मीडिया

10
SHARE
पाकिस्तान में सेना ने कई बार सरकार का तख्तापलट किया है पाकिस्तान सेना के चीफ जनरल राहील शरीफ के 29 नवंबर को रिटायर होने की खबर से पाकिस्तानी मीडिया हैरान है। पाक चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ ने भी सोमवार को लाहौर से फेयरवेल विजिट शुरू कर दी है। ऐसे में राहील का शांति से समय पर रिटायर होना लोगों को चौंका रहा है।
द डॉन- दबाव के बावजूद अपना फैसला नहीं बदला
दोस्तों, सहयोगियों, राजनेताओंद्वारा अपने फैसले की समीक्षा किए जाने की अपील के बावजूद सेना प्रमुख नहीं डिगे। एक के बाद एक ऐसे मौके आए जब सरकार पर जनता ने दबाव बढ़ाया कि वह राहील शरीफ से पद पर बने रहने का आग्रह करे।पर आखिर में सही चीज कायम रही और एक अच्छे अधिकारी को इस हफ्ते आधिकारिक विदाई दी जा सकेगी।पाक सेना की विश्वसनीयता साबित करने में राहील का यह फैसला काफी अहम है।
द नेशन: उनके पास पद पर बने रहने के मौके थे
 राहील शरीफ के रिटायर होने के फैसले पर कायम है। ये लोगों को चौंका रहा है। उनके पास पद पर बने रहने के कई अवसर थे। कई लोग ऐसा कह भी रहे थे। पनामा पेपर्स में नवाज का नाम आने और भारत से तनाव बढ़ने के बाद उनके पास मौका था|
राहील शरीफ ने 29 नवंबर 2013 को पाक चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ का पद संभाला था।वे पाक के 15वें आर्मी चीफ थे। उनसे पहले जनरल कयानी और परवेज मुशर्रफ, दोनों का टोन्योर बढ़ाया गया था।1990 में नवाज ने तत्कालीन आर्मी चीफ जनरल जहांगीर को टेन्योर पूरा होने से पहले हटा दिया था।राहील शरीफ, नवाज द्वारा अप्वाइंट 5वें आर्मी चीफ हैं।अब नवाज 6वीं बार आर्मी चीफ तय करेंगे। इससे पहले वो 1991 में जनरल असिफ जंजुआ, 1993 में जनरल वहीद काकर, 1998 में जरनल मुशर्रफ, 1999 में जियाउद्दीन बट और 2013 में जनरल राहील को अप्वाइंट कर चुके हैं|