पत्थरबाज को जीप से बांधने वाले मेजर को आर्मी ने दिया अवॉर्ड

15
SHARE

कश्मीर में पत्थरबाज को जीप के बोनट से बांधने वाले अफसर को आर्मी चीफ ने अवॉर्ड (प्रशस्ति पत्र) दिया है। मेजर लीतुल गोगोई ने श्रीनगर में बाईपोल कराने गई टीम को बचाने के लिए एक पत्थरबाज को पकड़कर काफिले की जीप के बोनट से बांधने का ऑर्डर दिया था। इसे पत्थरबाजों और हिंसक भीड़ के खिलाफ एक शील्ड के तौर पर इस्तेमाल किया। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद मुद्दा गरमाया था। आर्मी ने मेजर के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्क्वॉयरी की। जांच में उन्हें क्लीन चिट मिल गई।

आर्मी के स्पोक्सपर्सन, कर्नल अमन आनंद ने कहा, ”मेजर गोगोई की कार्रवाई को आर्मी ने हिंसक गतिविधियों से निपटने के लिए कारगर कार्रवाई माना है। उन्हें आर्मी चीफ विपिन रावत का प्रशस्ति पत्र (Commendation Card) दिया गया। बीड़वाह में 9 अप्रैल को इलेक्शन के दौरान जब हालात बेकाबू हो गए तो कर्नल रैंक के एक अफसर को जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इसी के चलते मेजर गोगोई ने कश्मीरी शख्स को जीप से बांधा और ह्यूमन शील्ड के तौर पर इस्तेमाल किया।”

पिछले हफ्ते जम्मू-कश्मीर दौरे पर आए आर्मी चीफ ने मेजर गोगोई को प्रशस्ति पत्र दिया। इसे ड्यूटी के दौरान डिवोटेशन और बेहतर सर्विस के लिए प्रतिष्ठित अवॉर्ड के तौर पर देखा जाता है। तीनों सेनाओं के चीफ्स की ओर से बैज प्रदान किए जाते हैं।