सपा ने अपर्णा यादव को लखनऊ कैंट से टिकट दिया

49
SHARE

यूपी के लखनऊ कैंट विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी ने मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे की बहू अपर्णा यादव को टिकट दिया है| वहीं बीजेपी ने लखनऊ कैंट सीट से रीता बहुगुणा जोशी का नाम आगे किया है जो पिछले चुनाव में यहीं से जीती थीं और उन्होंने कुछ वक्त पहले ही कांग्रेस का दामन छोड़ा है| अपर्णा यादव, मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं|
बताया जाता है कि मुलायम सिंह यादव ने जब पहली सूची का खाका अखिलेश यादव को भेजा था तो उसमें अपर्णा का नाम था| लेकिन अखिलेश द्वारा दी गई जवाबी सूची में लखनऊ कैंट में किसी उम्मीदवार का नाम नहीं था और वह जगह खाली छोड़ दी गई थी| लेकिन अब टिकट मिलने के बाद यह बात साफ हो गई है कि यादव परिवार की एक और बहू चुनावी मैदान में आ गई है| वहीं अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव, कन्नौज लोकसभा क्षेत्र से सपा सांसद हैं| लखनऊ कैंट विधानसभा सीट से सपा कभी नहीं जीत पाई है, और बताया जा रहा है कि वहां अपना आधार मज़ूबत करने के लिए अपर्णा काफी मेहनत भी कर रही हैं|

बताया जाता है कि फिलहाल यादव परिवार के करीब 21 सदस्य राजनीति में अलग अलग पदों पर कार्यरत हैं| अपर्णा चुनावी मैदान में उतरने के साथ ही अपर्णा अब 22वीं सदस्य बनने जा रही हैं| अखिलेश के करीबियों का मानना है कि अपर्णा यादव की राजनीतिक महत्वाकांक्षाएं अपने जेठ की जगह सपा का चेहरा बनने की हैं और आगे चलकर वह यूपी मुख्यमंत्री की उम्मीदवार के रूप में भी खुद को देखती हैं| गौरतलब है कि अखिलेश ने अनबन के बाद भी विधानसभा सीटों पर अपने पिता की पसंद को ध्यान में रखा है और चाचा शिवपाल का नाम जसवंतनगर के लिए दिया है और अब अपर्णा यादव को भी सीट दे दी गई है| हालांकि यहां से अपर्णा के लिए राह आसान नहीं होने वाली है| उनका सामना बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी से है| रीता, यूपी की राजनीति की रग रग से वाकिफ हैं और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री एचए बहुगुणा जोशी की बेटी हैं| इसके अलावा वह कांग्रेस की राज्य प्रमुख भी रही हैं जिस पार्टी को उन्होंने पिछले साल अक्टूबर में 24 साल के साथ के बाद छोड़ दिया था|

जोशी ने 2012 में हुए यूपी चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी के यूपी प्रमुख के पद से इस्तीफा दे दिया था| राज्य की 403 सीटों में से कांग्रेस सिर्फ 29 ही जीत पाई थी जिसमें से एक रीता की सीट थी| वह करीब 20 हज़ार से ज्यादा वोटों से जीती थीं| दिलचस्प बात है कि इस बार समाजवादी पार्टी और कांग्रेस साथ हैं लेकिन रीता जोशी अब बीजेपी में हैं|

हाल ही में लखनऊ कैंट में हुए एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा था ‘मुझे 100 परसेंट यकीन है कि मुझे इस सीट से टिकट मिल ही जाएगी और मैं यहां से लड़ूंगीं और पार्टी के लिए यहां से जीत दर्ज करवाऊंगी|’ एक बच्चे की मां अपर्णा अपना एनजीओ चलाती हैं, उन्होंने मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी से राजनीति और अंतरराष्ट्रीय संबंधों में पोस्ट ग्रैजुएशन किया है और वह एक प्रशिक्षित गायिका हैं| उनके पति प्रतीक, मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के बेटे हैं जो रियल एस्टेट और जिम का कारोबार चलाते हैं| हाल ही में उनकी चार करोड़ की लंबौरिगिनी कार के चलते वह सुर्खियों में आए थे|