कभी भी बुलाकर सदन की कार्यवाही के बारे में पूछ सकता हूं: मोदी

16
SHARE
मंगलवार को लोकसभा और राज्यसभा में पार्टी के सांसदों की खराब अटेंडेंस पर नाराजगी जताई है। बीजेपी पार्लियामेंट्री मीट में उन्होंने सभी सांसदों से उनकी पार्लियामेंट्री ड्यूटीज निभाने पर जोर दिया और नियमित सदन की कार्यवाही में शामिल होने को कहा।
– न्यूज एजेंसी यूएनआई के मुताबिक, मोदी ने सांसदों से कहा कि मैं कभी किसी को भी बुला सकता हूं और पूछ सकता हूं आप कहां हैं और आपके सदन में क्या चल रहा है?
– ऐसा कहा जा रहा है कि सांसद अगर सेशन के दौरान सदन में मौजूद हैं तो उन्हें हाजिर माना जाएगा। लेकिन अगर वे लॉबी में हैं तब उन्हें गैर हाजिर माना जायेगा। इतना ही नहीं पीएम अगर दिल्ली से बाहर हैं, तब वह किसी अफसर के जरिए किसी भी सांसद से बात कर सकते हैं।
पीएम ने अपनी पार्टी के सांसदों को क्यों वॉर्निंग दी?
– पीएम का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब लोकसभा में कई मौकों पर कोरम पूरा नहीं हुआ। राज्यसभा में मंगलवार को ऐसी स्थिति को देखने मिली जब तीन मंत्री अपनी मिनिस्ट्री से जुड़े सवालों का जवाब देने के लिए सदन में मौजूद नहीं थे। इस पर सभापति हामिद अंसारी ने नाराजगी भी जताई थी।
RS के प्रश्नकाल में 3 मंत्री गायब, विपक्ष बोला-ये मैक्सिमम मिनिस्टर्स, मिनिमम गवर्नेंस
– राज्यसभा में सोमवार को प्रश्नकाल के दौरान अजीब वाकया हुआ। विपक्ष ने 3 केंद्रीय मंत्रियों से सवाल पूछे थे, लेकिन जब जवाब देने का वक्त आया तो तीनों ही मंत्री सदन से गायब थे। यह देख चेयरमैन हामिद अंसारी नाखुश दिखे। इस पर विपक्ष ने सरकार पर तंज कसा “ये मैक्सिमम मिनिस्टर्स, मिनिमम गवर्नेंस है।”

– दरअसल, प्रश्नकाल के दौरान शिपिंग मिनिस्ट्री से यमुना वाटर टैक्सी प्रोजेक्ट की लॉन्चिंग पर सवाल किया गया था, लेकिन न तो सवाल पूछने वाला सांसद और न ही मिनिस्टर सदन में मौजूद था। इससे झल्लाए अंसारी ने कहा, “यह एक असाधारण स्थिति है।”

– जब अंसारी ने एनवार्यरनमेंट मिनिस्ट्री से जुड़ा दूसरा सवाल लिया तो उस वक्त भी जवाब देने के लिए केंद्रीय मंत्री मौजूद नहीं थे। कांग्रेस सांसद जयराम रमेश ने कहा, “एक भी कैबिनेट मिनिस्टर हाउस में मौजूद नहीं है।”
– उस वक्त सदन में केवल मिनिस्टर्स ऑफ स्टेट्स निर्मला सीतारमण, राम कृपाल यादव और केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान मौजूद थे। इसके बाद अंसारी ने अगला सवाल पावर मिनिस्ट्री से जुड़ा लिया, लेकिन इस बार भी जवाब देने के लिए मंत्री नजर नहीं आए।
बीजेपी के फाउंडेशन डे मनाने का रोडमैप पेश
– मोदी ने 6 अप्रैल को देशभर में बीजेपी के स्थापना दिवस मनाने का रोडमैप पेश किया।
– वहीं, उन्होंने सभी सांसदों से कहा कि वह अपने इलाकों में लोगों को जीएसटी के बारे में जानकारी दें और बतायें कि यह मोदी सरकार का कितना बड़ा फैसला है?
– केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि मोदी ने आने वाले दिनों के प्रोग्राम तय किए हैं।
– 6 अप्रैल को बीजेपी के फाउंडेशन डे पर पूरे देश में प्रोग्राम होंगे, जिसमें सभी 11 करोड़ वर्कर्स को इससे जोड़ना है।
– ये प्रोग्राम ग्राम पंचायत से लेकर केंद्र तक ऑर्गनाइज किए जाएंगे। इनमें सांसद, मंत्री, नेता सभी इनमें शामिल होंगे।
– इस दिन सभी वर्कर्स को मोदी सरकार के कामकाज की जानकारी दी जाएगी।
– इसके अलावा, 1 घंटे के लिए बीजेपी वर्कर्स सफाई अभियान में शामिल होंगे। वहीं शाम को रैली की जाएंगी।