बंगाल में टोल नाकों पर आर्मी की तैनाती से ममता नाराज

7
SHARE
गुरुवार देर रात मुख्यमंत्री ममता ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर टोल नाकों पर आर्मी की तैनाती पर नाराजगी जताई। उनका कहना था कि राज्य के सभी टोल टैक्स प्वाइंट्स पर आर्मी के जवानों को तैनात किया जा रहा है। कहा कि ऐसा करने से पहले केंद्र सरकार को राज्य की परमिशन लेने की जरूरत थी। डे’मोक्रेसी की हिफाजत के लिए मैं तब तक अपने ऑफिस से नहीं जाऊंगी, जब तक आर्मी हट नहीं जाती। नाराज ममता गुरुवार रात से अभी तक ऑफिस में हैं, वो घर नहीं गई हैं। 12 घंटे से वह नबोन्नो (राज्य सचिवालय) में हैं। पश्चिम बंगाल के कई जिलों में अचानक आर्मी की तैनाती का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि यह सैन्य तख्तापलट की कोशिश है|
ममता का कहना है बिना इजाजत के आर्मी को राज्यभर में कई जगह पर तैनात कर दिया गया है। राज्य सचिवालय के बाहर मिलिट्री जवानों की तैनाती से भी ममता नाराज हैं। उन्होंने रात करीब 10 बजे ट्वीट किया कि पुलिस ने आर्मी की तैनाती पर एतराज जताया है। फिर भी इस हाई सिक्युरिटी जोन में मनमानी की जा रही है। राज्य सचिवालय और हुगली सेंकड ब्रिज से आर्मी के जवानों को हटा लिया गया|
ममता बनर्जी और वेस्ट बंगाल पुलिस ने आरोप लगाया कि राज्य के 17 जिलों में हाईवे और अहम जगहों पर आर्मी तैनात कर दी गई है।इसके लिए न राज्य सरकार से परमिशन ली गई और न ही बताया गया। यहां तक कि मॉक ड्रिल से पहले आर्मी राज्य सरकार को बताती है, लेकिन इस बार ऐसा कुछ नहीं हुआ|
बंगाल सरकार के आरोपों पर आर्मी ने कहा कि यह एक रूटीन एक्सरसाइज है। दो साल में खासकर एक बार पूरे देश में डाटा कलेक्शन एक्सरसाइज के लिए टोल बूथ पर जवानों की तैनाती की जाती है। इसमें परेशान होने की कोई बात नहीं है। ये राज्य सरकार के ऑर्डर के मुताबिक किया जाता है। यह कल खत्म हो जाएगा।सभी नॉर्थ-ईस्ट राज्यों में ये एक्सरसाइज हो रही है।असम में 18, अरुणाचल में 13, वेस्ट बंगाल में 19, मणिपुर में 6, नगालैंड में 5 जगहों के साथ ही त्रिपुरा और मिजोरम में भी ऐसी एक्सरसाइज हो रही है|
बीजेपी नेता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, ”नोटबंदी के बाद ममता बनर्ती और उनकी पार्टी को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है जो उन्होंने शारदा और नारदा चिटफंड से जुटाए थे।वह पूरी तरह से अपना मानसिक संतुलन खो चुकी हैं।कभी कहती हैं कि प्लेन क्रैश कराने की साजिश हो रही है और कभी कहती हैं कि मोदीजी आर्मी से तख्तापलट की साजिश कर रहे हैं।कोई कुछ नहीं कर सकता। टीएमसी को ममता बनर्जी को डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए|”