बदायूं में नहीं मिला शव वाहन, पति कंधे पर लेकर गया पत्‍नी की लाश

14
SHARE

बदायूं में शव वाहन मांगने केे बाद भी अस्‍पताल के एंबुलेंस ना मुहैया कराने पर बेहद गरीब यह शख्‍स अपनी पत्‍नी के शव को कंधे पर ढोकर उसे पास के टेंपों स्‍टैंड तक ले गया. वहां लोगों से चंदा एकत्र कर शव को ऑटो से घर ले गया.

पत्‍नी का शव कंधे पर ढोते समय गरीब पति की बेबसी और आंसू भी थमने का नाम नहीं ले रहे थे. बेहद संवेदनहीनता दिखाती यह घटना सोमवार (7 मई) दोपहर की है. थाना मूसाझाग क्षेत्र के रहने वाले सादिक ने अपनी बीमार पत्नी मुनीशा को सोमवार को ही सुबह जिला अस्‍पताल में भर्ती कराया था. दोपहर में इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई. मौत के बाद गरीब सादिक ने लोगों से एक प्रार्थन पत्र अस्पताल के मुख्य चिकित्साधीक्षक के नाम लिखवाया. उसमें उसने पत्‍नी का शव घर ले जाने के लिए शव वाहन की मांग की. लेकिन सादिक को शव वाहन नहीं मुहैया कराया गया. आरोप है कि उस समय जिला अस्पताल में शव वाहन उपलब्‍ध था.

इसके बाद पति सादिक अपनी पत्नी के शव को कंधे पर रखकर जिला अस्पताल से बाहर निकला. भीषण गर्मी में उसे ऐसा करते हुए रास्‍ते में जिसने भी देखा उसने सिस्‍टम को कोसा. वह शव को कंधे पर रखकर ही ऑटो स्‍टैंड की तरफ चल दिया. इस दौरान लोगों ने मानवता दिखाई और गरीब सादिक को चंदा देकर उसकी पत्‍नी के शव को घर ले जाने के लिए मदद की.

मामले में सीएमओ का कहना है कि अस्‍पताल में दो शव वाहन हैं. जरूरतमंदों को ये उपलब्‍ध कराए जाते हैं. उन्‍होंने कहा कि वह मामले की जांच करवाकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे.

जिले के मुख्य चिकित्साधिकारी का कहना है कि यह मामला बेहद संवेदनशील और अमानवीय कृत्‍य से जुड़ा हुआ है. मामले की जांच कर अस्पताल प्रभारी को नोटिस जारी किया जाएगा.