इलाहाबाद में पिता की डांट से नहीं मां के उकसाने पर हाईस्कूल के छात्र ने की थी पिता की हत्या

226
SHARE

इलाहाबाद के भदोही में तैनात सिपाही मोतीलाल पाल की हत्या में पुलिस को जांच में पता चला है कि पत्नी अनीता के उकसाने पर ही बेटे ने गोली मारकर हत्या की। जबकि हाईस्कूल में पढ़ने वाले बेटे ने स्वीकार कहा था की पिता ने पढ़ाई को लेकर फटकार लगाई थी, इसलिए उसने कत्ल किया है।

कल इलाहाबाद में कक्षा दस के छात्र को सिपाही पिता ने पढऩे के लिए डांटा तो नाराज छात्र ने पिता को गोली मार दी। जिसके बाद मौके पर ही पिता की मौत हो गई।

धूमनगंज थाना के ट्रांसपोर्टनगर में पढ़ाई के लिए फटकार से नाराज 10वीं के छात्र ने अपने सिपाही पिता मोतीलाल की गोली मारकर हत्या कर दी। कल रात सिपाही का बड़ा भाई घर पहुंचा तो घटना की जानकारी हुई। पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार करते हुए किचन से तमंचा व कारतूस बरामद कर लिया है।

फिलहाल पुलिस ने पिता राम प्रसाद की तहरीर पर पत्नी अनीता व बेटे प्रिंस के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। सीओ सिविल लाइंस श्रीशचंद्र ने बताया कि मोतीलाल ने अनीता से कई साल पहले प्रेम विवाह किया था। अनीता भी कौशांबी की रहने वाली थी। वह नहीं चाहती थी कि मोतीलाल अपने घरवालों से संबंध रखे। इसी बात को लेकर अक्सर उनके बीच झगड़ा होता था।

शनिवार को जब वह छुट्टी पर आया तो पत्नी से विवाद हुआ। तब बेटे ने विरोध किया तो उसे भी पढ़ाई को लेकर कड़ी फटकार लगाई। आरोप है कि इसी दौरान अनीता ने उकसाया तो पुत्र ने सिपाही के माथे पर गोली मार दी। हैरानी की बात यह भी कि गोली लगने के बाद मोतीलाल जमीन पर पड़ा तड़पता रहा, लेकिन निर्दयी पत्नी व बेटे ने मरने के लिए छोड़ दिया। इसके बाद सभी लोग घर में मौजूद थे, पर किसी ने पुलिस को सूचना नहीं दी।

वहीं सोमवार को हुए शव के पोस्टमार्टम से पता चला है कि सिपाही के माथे पर एक गोली मारी गई थी, जो डॉक्टरों को मिली है। गोली पिस्टल की बताई जा रही है, जबकि घर से तमंचा मिला है।

धूमनगंज अरुण त्यागी ने बताया कि असलहा कहां से आया, इसके बारे में पता लगाया जा रहा है।