इलाहबाद में मारे गए ठेकेदार की पत्नी ने कहा, सीएम आएं तभी करूंगी पति का अंतिम संस्कार

577
SHARE

आज उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ इलाहाबाद जाएंगे. इलाहाबाद आते ही योगी आदित्यनाथ का सामना एक बड़े सवाल से होने वाला है. ये सवाल पूछ रही है मृतक ठेकेदार धीरज की पत्नी नीतू सिंह. नीतू सिंह पति का शव का अंतिम संस्कार नहीं कर रहीं. वो योगी से पूछना चाहती हैं क्या उत्तर प्रदेश में खाने लाने पर गोली मार दी जाती है? जब पुलिस मुख्यालय के सामने तक इंसान सुरक्षित नहीं तो राज्य में कहां और किसे सुरक्षा मिलेगी ?

 

मृतक धीरज सिंह की पत्नी नीतू सिंह का कहना है, ‘’मुझे न्याय चाहिए. सीएम योगी आएं, जब तक वो यहां आएंगे नहीं और मुझे अपने आप बोलेंगे नहीं कि वो मुझे एक दिन के अंदर मेरे पति के कातिल को पकड़ कर देंगे, मैं इनकी लाश को आग भी नहीं देने दूंगी. मेरी ये मांग है प्लीज, एक बार देखिए क्या हो रहा है ये मेरे साथ.’’

नीतू के पति धीरज की अपराधियों ने इलाहाबाद के सिविल लाइंस इलाके में नीतू की आंखों के आगे ही गोली मारकर कर हत्या कर दी. ये घटना तब हुई जब सिविल ठेकेदार धीरज अपनी पत्नी के साथ इसी ढाबे पर देर रात खाना पैक कराने आए थे. जिस जगह ये घटना हुई वो जगह पुलिस मुख्यालय के ठीक सामने है. पुलिस पूरी जांच के बाद सीसीटीवी का एक वीडियो ही जुटा पाई है, जिसमें संदेहास्पद हमलावर नजर आते हैं पर कोई चेहरा नजर नहीं आता. साफ है कि अभी इलाहाबाद पुलिस हवा में ही तीर चला रही है.

कल ही योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी और गृह विभाग के अफसरों के साथ बैठक ली और चेताया की पानी सिर से ऊपर जा रहा है. इस चेतावनी की वजह है कि योगी राज के पहले ही महीने में यानी 15 मार्च से 15 अप्रैल के बीच यूपी में 273 लूट की घटनाएं, 240 हत्याएं और 179 बलात्कार हुए.