पद्मावतः यूपी में अलर्ट, फूल देकर फिल्म न देखने की अपील की, वाराणसी में आत्मदाह की कोशिश

18
SHARE

फिल्म पद्मावत के रिलीज होने के बाद गुरुवार को यूपी में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। फिल्म के विरोध में करणी सेना ने हजरतगंज में जुलूस निकाला और लोगों को फूल देकर फिल्म न देखने की अपील की।

आते-जाते सभी लोगों की गाड़ियां रोककर उन्हें गुलाब का फूल दिया और फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ की बात कहते हुए फिल्म न देखने की अपील की।

विवादों में चल रही फिल्म पद्मावत भारी सुरक्षा के बीच रिलीज हो गई है, करणी सेना का प्रदर्शन अभी भी जारी है। भारी सुरक्षा के इंतजाम के बीच कई जगहों पर तोड़फोड़ की खबर आ रही है। पुलिस ने वाराणसी में सिनेमा हॉल के बाहर से एक शख्स को आत्मदाह की कोशिश करते हुए पकड़ा है।

क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह ने कहा कि क्षत्रिय समुदाय सहयोग करके उस शख्स को एक करोड़ रुपए का ईनाम देगा जो दीपिका पादुकोण की नाक और काम काटकर लाएगा।

सहारनपुर के देवबंद के गांव रनखण्डी में राजपूत समाज की महिलाएं भी पुरुषों के साथ नंगी तलवारें लेकर बाहर आ गईं। इस दौरान उन्होंने संजय लीला भंसाली का पुतला दहन कर गांव के चौक पर प्रदर्शन किया।

बिजनौर में फिल्म पद्मावत को रिलीज करने के लिए मॉल के बाहर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इसके बाद भी यहां फिल्म नहीं दिखाई जा रही है। वहीं मेरठ में केवल सिंगल स्क्रीन सनेमाघरों में शो चल रहे हैं।

कानपुर के मिराज सिनेमा में पद्मावत की रिलीज को लेकर थियेटर प्रबंधन ने कोई अप्रिय घटना से बटने के लिए हाथ खड़े कर दिये हैं। कानपुर के ही पम्मी थियेटर में पद्मावत 25 और 26 तारीख को नहीं रिलीज होगी।