2019 में सपा-कांग्रेस का नहीं होगा गठबंधन, अखिलेश यादव ने कांग्रेस को किनारे किया

60
SHARE

यूपी में आगामी लोकसभा चुनाव में विपक्ष का कोई महागठबंधन बन पाने की संभावनाएं दिनोदिन खत्म होती है रही हैं और इस बारे में बीजेपी की ही बात सही होती दिख रही है कि ऐसा कोई गठबंधन हो ही नहीं पाएगा। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ऐलान कर दिया है कि 2019 के चुनाव में उनकी पार्टी और कांग्रेस का कोई गठबंधन नहीं होगा।

मध्यप्रदेश में एक न्यूज चैनल से उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं को लगता है कि उनकी पार्टी ही बड़ी है, अन्य कुछ भी नहीं। अखिलेश यादव ने कहा कि कांग्रेस के घमंड को देखते हुए देश में तीसरे मोर्चे की जरूरत लगने लगी है। भाजपा को जनता ही हराएगी।

अखिलेश यादव ने यूपी में पिछला विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ लड़ा था, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। सपा और कांग्रेस दोनों ही बुरी तरह से हारे। हां इन चुनावों के बाद उपचुनावों में अखिलेश यादव ने बसपा के साथ गठबंधन किया और सभी उपचुनाव जीते। यह प्रयोग सफल रहा था।

सपा और बसपा दोनों ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस के साथ गठबंधन चाहते थे क्योंकि इन राज्यों में कांग्रेस की स्थिति मजबूत है, लेकिन कांग्रेस ने इन राज्यों में सपा-बसपा को कोई भाव नहीं दिया और ये पार्टियां अळग-अळग चुनाव लड़ रही हैं। यही वजह है कि कांग्रेस पर पहले मायावती का और अब अखिलेश यादव का गुस्सा फूटा है। कांग्रेस को इसका खामियाजा उत्तर प्रदेश में उठाना पड़ सकता है।