‘अंसारी ब्रदर्स’ के कारण मुलायम की रैली से सीएम अखिलेश ने किया किनारा

18
SHARE

पूर्वांचल में समाजवादियों का गढ़ कहे जाने वाले गाजीपुर में समाजवादी पार्टी की रैली में सीएम अखिलेश यादव के शामिल नहीं होने के मायने हैं। इस रैली के आयोजन में कौमी एकता दल (कौएद) से जुड़े नेताओं, खास तौर से अंसारी बंधुओं की अहम भूमिका रही है।

सीएम ने कौएद के सपा में विलय का विरोध किया था। रैली से किनारा करके सीएम ने संदेश देने की कोशिश की है कि वह आपराधिक तत्वों को पार्टी में तरजीह न देने की लाइन से हटे नहीं हैं।

एक तरह से उन्होंने बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के कौएद के सपा में विलय पर सांकेतिक एतराज दर्ज करा दिया है। गाजीपुर में वर्ष 2012 के चुनाव में सपा को छह में से पांच सीटें मिली थीं। एक पर कौएद के सिगबतुल्ला अंसारी विजयी रहे थे। सिगबतुल्ला, बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई हैं।

मुख्तार पड़ोसी जिले मऊ से विधायक हैं। उनके दूसरे भाई अफजाल अंसारी गाजीपुर से सपा के सांसद रह चुके हैं। विलय से पहले वे कौएद के अध्यक्ष थे।