योगी सरकार के साइकिल ट्रैक तोड़वाने वाले फैसले पर अखिलेश यादव का करारा जबाब

474
SHARE

प्रदेश भर में समाजवादी पार्टी द्वारा बनाए गए साइकिल ट्रैक्स के ध्वस्तीकरण के निर्देश ने अचानक सियासी गलियारी में हड़कंप मचा दिया है। नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने करोड़ों के साइकिल ट्रैक तोड़े जाने की बात कही है। उनका कहना है कि मौजूदा समय में इन ट्रैक पर साइकिल तो कम चलती हैं लेकिन ये ट्रैक पटरी दुकानदार, मैकेनिक और ठेलेवालों के काम आ रहा हैं। कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा है की पूरे प्रदेश में सपा सरकार के समय तंग सड़कों के किनारे बने सभी साइकिल ट्रैक तोड़े जाएंगे। उन्होंने इसके पीछे यातायात प्रभावित होने का तर्क दिया और ट्रैक बनने के बाद अतिक्रमण बढ़ने का भी बात कही। उन्होंने साइकिल ट्रैक के निर्माण को बजट का दुरुपयोग भी बताया।

 प्रदेश सरकार के इस आदेश के बाद सपा में आक्रोश है और खुद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होंने सोशल मीडिया पर बेहद कम शब्दों में अपनी बात को रखते हुए लिखा है “साइकिल चलाना स्वास्थ्य, पर्यावरण और अर्थव्यवस्था सबके लिए लाभप्रद है।” वहीं एक वेबसाईट में छपी खबर के अनुसार यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार इस फैसले को विकास विरोधी करार दिया है। साथ ही साइकिल ट्रैक को ध्वस्त करने पर बर्दाश्त न करने की बात कही है। अखिलेश ने कहा है कि भाजपा सरकार का विकास विरोधी चरित्र उजागर होता जा रहा है। समाजवादी सरकार ने विकास के जो नए मानक तैयार किए थे उनको एक-एक कर नष्ट करना ही भाजपा सरकार ने अपना ध्येय बना लिया है।
अखिलेश ने आगे कहा कि साइकिल ट्रैक ध्वस्त करना भी उसके (भाजपा के) मुख्य एजेंडा में शामिल हो गया है, लेकिन सपा इसे बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार के समय के विकास कार्यक्रमों में पलीता लगाना ही भाजपा सरकार का एकमात्र संकल्प है। अखिलेश यादव ने कहा है कि अगली बार समाजवादी सरकार बनने पर साइकिल यात्री की किसी दुर्घटना में मुत्यु होने पर मृतक आश्रित को 10 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। साइकिल से पर्यटन को बल दिया जाएगा। समाजवादी सरकार में साइकिल यात्रा को और ज्यादा प्रोत्साहित किया जाएगा। साइकिल ट्रैक का भी विस्तार होगा।